NEET में फेल होने के डर से किया सुसाइड: तमिलनाडु की राजलक्ष्मी का तीसरा अटेम्पट था; डिप्रेशन में थी, मरने से पहले पिता को बाजार भेजा

0
8


15 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

तमिलनाडु के तेनकासी जिले में राजलक्ष्मी नाम की एक लड़की ने गुरुवार को फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया। उसे नीट एग्जाम के रिजल्ट में फेल होने का डर था, इसलिए उसने यह कदम उठाया। इसकी जानकारी जिला कलेक्टर ने दी है। वहीं पुलिस मामला दर्ज कर आगे की जांच कर रही है।

नीट का रिजल्ट 7 सितंबर को आना है। राजलक्ष्मी का यह तीसरा अटेम्प्ट था। उसे इस बार भी डर था कि वह फेल न हो जाए। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राजलक्ष्मी के पिता ने बताया कि राजलक्ष्मी ने उन्हें बाजार जाकर नाश्ता लाने को कहा और वह चले गए। जैसे ही वह घर आए तो देखा की बेटी फंदे पर लटकी हुई है। उन्होंने यह भी बताया कि राजलक्ष्मी कई दिनों से डिप्रेशन में भी थी।

16 जुलाई को भी एक छात्रा ने किया था सुसाइड
इसके पहले 16 जुलाई को तमिलनाडु के अरियालुर में नीट की एक स्टूडेंट ने एग्जाम के डर से सुसाइड कर लिया था। जानकारी के मुताबिक, लड़की के पास से एक नोट मिला था। जिसमें उसने लिखा था कि 17 जुलाई को नीट का एग्जाम होना है और उसे इस बात का डर है कि वह फेल हो जाएगी। इसी डर से वो यह कदम उठा रह है।

हालांकि, उसने 2020-21 में भी एग्जाम दिया था, जिसमें 529 नंबर आने पर उसका सिलेक्शन नहीं हुआ। उसने इस साल भी एग्जाम की तैयारी की थी, लेकिन उसे लगा उसका सिलेक्शन इस बर भी नहीं होगा। वहीं लड़की के परिवार ने बताया था कि उनकी तरफ से कभी भी पढ़ाई को लेकर कोई प्रेशर नहीं था। वह अपनी मर्जी से ही नीट की तैयारी कर रही थी।

12वीं की चार छात्राओं ने किया था सुसाइड
राज्य में जुलाई में स्कूली स्टूडेंट्स के सुसाइड के पांच मामले सामने आए थे। कल्लाकुरिची, तिरुवल्लूर, कुड्डालोर, शिवगंगा में 12वीं की चार छात्राओं ने सुसाइड कर लिया था। जबकि शिवकाशी जिले में 11वीं के एक छात्र ने सुसाइड कर लिया था। पढ़ें पूरी खबर…

खबरें और भी हैं…



Source link