Happy Teacher’s Day 2022: जीवन में एक श्रेष्ठ शिक्षक की भूमिका निभाती हैं चाणक्य नीति की ये बातें | Happy Teacher’s Day 2022: These lessons of Acharya Chanakya play the role of best teacher in life | Patrika News

0
18


आचार्य चाणक्य कहते हैं कि व्यक्ति के जीवन में हर मोड़ पर कोई न कोई चुनौती उसका इंतजार कर रही होती है और मुश्किल समय में जो व्यक्ति संयम, धैर्य, बुद्धिमानी से काम लेता है वही आगे बढ़ पाता है।

वहीं व्यापारिक जीवन में सफल होने के लिए आचार्य चाणक्य कहते हैं कि अक्सर हम लोग अपने आसपास कई ग्राहकों, कर्मचारियों और निवेशकों आदि से घिरे रहते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि अपनी योजनाओं और रहस्यों के बारे में हर किसी को नहीं बताना चाहिए। हो सकता है कि उनमें से आपका कोई प्रतियोगी भी हो और आपकी योजनाओं के बारे में जानकर वह आपके विरुद्ध इसे इस्तेमाल कर सकता है। इसलिए अपने काम से जुड़ी खास बातों को खुद तक सीमित रखें।

चाणक्य नीति के अनुसार किसी भी नए काम को शुरू करते समय असफलता से बिल्कुल भी डरना नहीं चाहिए और कोशिश करने से पहले ही उसे त्‍यागें भी नहीं। आचार्य चाणक्य के अनुसार जो व्यक्ति ईमानदारी और लगन से कार्य करता है वह हमेशा खुश रहता है। क्योंकि कर्म से ही इंसान की पहचान होती है, जन्म से कोई कुछ सीखकर नहीं आता।

चाणक्य नीति शास्त्र के अनुसार कभी भी किसी ज्ञान को प्राप्त करने में शर्म नहीं करनी चाहिए। ज्ञान जहां से भी मिले उसे बटोर लेना चाहिए। जीवन में वही व्यक्ति सफल होता है जो हमेशा कोई नया कार्य शुरू करने से पहले यह चिंतन अवश्य करता है कि वह जो भी काम करने जा रहा है वह क्यों कर रहा है, इसका परिणाम क्या हो सकता है और क्या वह उस काम को अपनी पूरे मन से करने के लिए तैयार है। तभी वह अपने लक्ष्य को प्राप्त कर पाता है।

यह भी पढ़ें: Vastu Shastra: घर में किस दिशा में होनी चाहिए रसोई? जानिए किचन से जुड़े ये खास वास्तु नियम





Source link