Guru Purnima 2022: गुरु पूर्णिमा आज, जानिए पूजाविधि

0
12
Advertisement


Astrology

lekhaka-Gajendra sharma

|

Google Oneindia News

नई दिल्ली, 14 जुलाई। अज्ञान के अंधकार से ज्ञान के उजाले की ओर ले जाने वाले गुरु के पूजन का दिवस आज है, जी हां, आज गुरु पूर्णिमा है। महाभारत के रचयिता वेद व्यास के नाम पर इसे व्यास पूर्णिमा भी कहा जाता है। गुरु पूर्णिमा आज रात्रि 12.09 बजे रहेगी। आज के दिन बृहस्पति स्वराशि मीन में रहेंगे जो गुरु पूजन के लिए सर्वश्रेष्ठ दिन है।

Guru Purnima 2022: गुरु पूर्णिमा आज, PM Narendra Modi ने दी शुभकामनाएं | वनइंडिया हिंदी | *Religion

गुरु पूर्णिमा के दिन व्यास, वशिष्ठ आदि ऋषियों तथा दीक्षा-शिक्षा देने वाले गुरु का पूजन किया जाता है। प्राचीनकाल में विद्यार्थी गुरुकुलों में शिक्षा प्राप्त करने जाते थे। विद्यार्थी इस दिन श्रद्धा भाव से प्रेरित अपने गुरु का पूजन करके अपनी शक्ति के अनुसार दक्षिणा देकर गुरु को प्रसन्न करते थे। इस दिन पूजा से निवृत्त होकर अपने गुरु के पास जाकर वस्त्र, फल, फूल माला अर्पण करके गुरु के चरणों का पूजन करना चाहिए। गुरु का आशीर्वाद प्राप्त करना चाहिए। इस दिन महर्षि वेदव्यास का जन्म दिवस भी होता है, इसलिए इसे व्यास पूर्णिमा कहा जाता है।

 Biggest Supermoon 2022 : 'ब्लडमून' के बाद खत्म हो जाएगी दुनिया? जानिए 'सुपर मून' से जुड़ी भ्रांतियां Biggest Supermoon 2022 : ‘ब्लडमून’ के बाद खत्म हो जाएगी दुनिया? जानिए ‘सुपर मून’ से जुड़ी भ्रांतियां

गुरु पूर्णिमा के दिन योग-संयोग

आषाढ़ पूर्णिमा के दिन पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र रात्रि 11.20 बजे तक रहेगा। बल में वृद्धि करने वाला एद्रे योग दोपहर 12.43 तक रहेगा। इसके अलावा गुरु स्वराशि मीन में, सूर्य मिथुन में और चंद्र धनु राशि में गोचर करेगा। आषाढ़ पूर्णिमा से श्रावण पूर्णिमा तक सौभाग्यवती स्ति्रयां अपने सुख-सौभाग्य में वृद्धि के लिए कोकिला व्रत रखकर गौरी की पूजा करती हैं।

English summary

Guru Purnima is coming on 13th July. read Puja Vidhi and Importance.



Source link

Advertisement