3 दिन पहले बर्मिंघम पहुंचे और देश को दिलाया मेडल: तेजस्विन शंकर को भारतीय टीम से किया गया था बाहर, कोर्ट से जंग जीतकर गए थे खेलने

0
9
Advertisement


  • Hindi News
  • Sports
  • Commonwealth Games Medalist Tejaswin Shankar Success Story | CWG High Jump Final

बर्मिंघम32 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

हाई जंपर तेजस्विन शंकर ने 22वें कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत के लिए एथलेटिक्स में पहला मेडल जीता है। वे इन गेम्स के 92 साल के इतिहास में हाई जंप का मेडल जीतने वाले पहले भारतीय बने हैं। 23 साल के तेजस्विन ने मेंस हाई जंप इवेंट में 2.22 मीटर स्कोर करते हुए ब्रॉन्ज पाया।

वे गेम्स शुरू होने से तीन दिन पहले ही बर्मिंघम पहुंचे थे, क्योंकि उन्हें एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने टीम इंडिया से बाहर कर दिया था। तेजस्विन ने भारत की नेशनल इंटर स्टेट मीट में हिस्सा नहीं लिया था। जब यह टूर्नामेंट हुआ तब वे USA में ट्रेनिंग कर रहे थे। ऐसे में तेजस्विन ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और कोर्ट ने उन्हें भेजने का आदेश दिया। वे भारतीय दल में शामिल होने वाले आखिरी एथलीट थे।

2.29 मीटर का पर्सनल बेस्ट है तेजस्विन का।

2.29 मीटर का पर्सनल बेस्ट है तेजस्विन का।

बाद में मिली मंजूरी, रिप्लेसमेंट बने
दिल्ली हाई कोर्ट के कहने पर तेजस्विन को राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा लेने की मंजूरी मिल गई थी। उन्हें राष्ट्रमंडल खेल 2022 के लिए भारतीय स्क्वॉड में घायल रिले धावक अरोकिया राजीव के रिप्लेसमेंट के तौर पर शामिल किया गया था। अब तेजस्विन ने खुद को साबित किया है।

लगातार बढ़ा स्कोर; पहले प्रयास में 2.10 मी. और आखिरी में 2.22 मी. की छलांग लगाई।

लगातार बढ़ा स्कोर; पहले प्रयास में 2.10 मी. और आखिरी में 2.22 मी. की छलांग लगाई।

नेशनल रिकॉर्ड भी तेजस्विन के नाम
तेजस्विन के नाम हाई जंप में नेशनल रिकॉर्ड भी है। उन्होंने इस सीजन 2.27 मीटर का जंप भी लगाया है। वहीं, उनका पर्सनल बेस्ट 2.29 मीटर का है। हालांकि, फाइनल में वह इस प्रदर्शन को दोहराने में नाकाम रहे, लेकिन तेजस्विन ने इतिहास जरूर रच दिया। बर्मिंघम में फाइनल के दौरान शंकर ने अपने पहले प्रयासों में 2.10 मीटर, 2.15 मीटर, 2.19 मीटर और 2.22 मीटर की जंप लगाई।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement