स्वस्थ रहना है तो सिर्फ इतनी मात्रा में करें शराब का सेवन

0
8
Advertisement


Liver Damage From Alcohol: लिवर हमारे शरीर के महत्वपूर्ण अंगो में से एक है. स्वस्थ रहने के लिए लिवर का हेल्दी रहना बहुत जरूरी है. लिवर के बिना कोई व्यक्ति जीवित नहीं रह सकता है. आपकी ओवरऑल हेल्थ को बनाए रखने में लिवर अहम भूमिका निभाता है. ऐसे में लिवर को स्वस्थ रखने की कोशिश करनी चाहिए. हालांकि आजकल की लाइफस्टाइल में शराब शामिल है. ज्यादातर लोग अल्कोहल का सेवन करते हैं, जो लिवर के लिए खतरनाक है.

शराब से लिवर संबंधी बीमारियां पैदा होती है. इससे लिवर में सूजन या लिवर फेल होने का खतरा रहता है. ज्यादा शराब पीने से लिवर में स्कार्स पड़ जाते हैं जिसे सिरोसिस के रूप में जाना जाता है. इसलिए अगर आप ड्रिंक करते हैं तो आपको ये जानना जरूरी है कि आपको कितनी मात्रा में शराब पीनी चाहिए, जिससे लिवर को नुकसान न पहुंचे.

कितनी मात्रा में शराब पीनी चाहिए?
ड्रिंकवेयर के अनुसार, शराब से संबंधित फैटी लीवर की बीमारी ऐसे 90 प्रतिशत लोगों में विकसित होती है, जो हर रोज 40 ग्राम या 4 यूनिट से ज्यादा शराब का सेवन करते हैं. ये करीब 12 प्रतिशत एबीवी के 2 मीडियम गिलास वाइन के बराबर और 4 प्रतिशत एबीवी रेगुलर स्ट्रेंथ के 2 पिंट्स से कम होगी. 

शराब का लिवर पर असर
जब हम शराब पीते हैं तो लिवर अल्कोहल जैसे जहरीले पदार्थों को कम करने का काम करता है. लीवर में पाए जाने वाले एंजाइम अल्कोहल को तोड़ने का काम करते हैं और इसे शरीर से बाहर निकालने में मदद करते हैं. हालांकि लंबे समय तक ऐसा करने से लिवर पर असर पड़ने लगता है. इससे फैटी लिवर की समस्या शुरु होती है. लिवर पर सूजन आने लगती है और स्कार्स बनने लगते हैं. 

हालांकि लिवर में रिजेनरेट होने की क्षमता होती है, लेकिन कई बार अल्कोहल को फिल्टर करते वक्त लिवर की कुछ सेल्स डेड हो जाती हैं. लंबे समय तक अल्कोहल का सेवन करने से लिवर धीरे-धीरे डैमेज होने लगता है. अगर आप शराब पीना बिल्कुल बंद कर देते हैं तो इससे लिवर में सुधार आने लगता है.

महिलाओं के लिए ज्यादा खतरनाक है अल्कोहल 
अगर आप एक साथ बहुत ज्यादा मात्रा में ड्रिंक लेते हैं और आपको पहले से कोई लिवर से संबंधित बीमारी है या फिर आप हेपेटाइटिस सी से प्रभावित रहे हैं तो ये लिवर के लिए खतरनाक हो सकता है. इससे एआरएलडी का खतरा बढ़ जाता है. वहीं पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में शराब पीने से लिवर से जुड़ी समस्याएं ज्यादा देखी गई है.

लिवर के लिए टेस्ट
अगर आप ड्रिंक करते हैं तो आपको समय-समय पर लिवर का टेस्ट करवाते रहना चाहिए. लिवर के टेस्ट के लिए आप कंप्लीट ब्लड काउंट (CBC), लिवर फंक्शन टेस्ट जिसमें लिवर एंजाइम टेस्ट शामिल हो, एक एब्डोमिनल कंप्यूटेड टोमोग्राफी सीटी स्कैन (an abdominal computed tomography CT scan), एब्डोमिनल अल्ट्रासाउंड और लिवर बायोप्सी करा सकते हैं. 

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की एबीपी न्यूज़ पुष्टि नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

ये भी पढ़ें: Lifestyle Tips: एसी का टेंपरेचर 24-25 से कम रखते हैं, तो हो जाएं सावधान

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link

Advertisement