स्मार्टफोन-लैपटॉप के साइड इफेक्स: नई रिसर्च में दावा- गैजेट्स से निकलने वाली ब्लू लाइट समय से पहले बूढ़ा बना सकती है

0
20


41 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

हम सभी टेक्नोलॉजी गैजेट्स से दिन रात घिरे रहते हैं। स्मार्टफोन, स्मार्टवॉच, लैपटॉप, टीवी आदि हमारी रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बन चुके हैं। हम जानते हैं कि यह डिवाइस हमारी आंखें खराब करते हैं, लेकिन यह चीजें इससे भी ज्यादा नुकसान पहुंचाती हैं। अमेरिका की ओरेगन स्टेट यूनिवर्सिटी की एक नई रिसर्च के मुताबिक, इन गैजेट्स से निकलने वाली ब्लू लाइट हमें जल्दी बूढ़ा कर सकती है।

मक्खियों पर हुई रिसर्च

इस रिसर्च में मक्खियों को शामिल किया गया। इनमें से कुछ को दो हफ्ते ब्लू लाइट से एक्सपोज किया गया। वैज्ञानिकों ने पाया कि इस लाइट से मक्खियों में तनाव से जुड़े जींस एक्टिवेट हो जाते हैं। जिन मक्खियों को ब्लू लाइट से एक्सपोज नहीं किया गया और पूरी तरह अंधेरे में रखा गया, वो लंबे समय तक जीवित रहीं।

इसके साथ ही दोनों ग्रुप्स की मक्खियों के मेटाबोलाइट्स की भी तुलना की गई। मेटाबोलाइट्स ऐसे पदार्थ हैं जो किसी जीव के शरीर में तब बनते हैं या इस्तेमाल किए जाते हैं, जब शरीर दवाओं, भोजन या केमिकल को तोड़ रहा होता है। स्टडी के मुताबिक, ब्लू लाइट इन मेटाबोलाइट्स पर काफी प्रभाव डालती है।

ब्लू लाइट उम्र तेजी से बढ़ाती है

रिसर्चर्स ने बताया कि ब्लू लाइट की वजह से मक्खियों के सेल्स (कोशिकाएं) जल्दी मर जाते हैं। यानी, उनकी उम्र बढ़ने की गति तेज हो जाती है। वैज्ञानिकों को लगता है कि इंसानों में भी ब्लू लाइट का कुछ ऐसा ही असर होता है। उनके सेल्स भी समय से पहले मरने लगते हैं, जिससे वे जल्दी बूढ़े होने लगते हैं। हालांकि, फिलहाल इस विषय पर और रिसर्च की जरूरत है। आगे के शोध में इंसानों के सेल्स पर फोकस किया जाएगा।

खबरें और भी हैं…



Source link