संभलकर रहिए! जरा सी गलती की तो चपेेट में ले लेगा ये बैक्टीरिया

0
12


Bacterial Infection Treatment: कोविड के बाद लोगों ने वायरस और बैक्टीरियल इन्फेक्शन से बचाव को लेकर कुछ हद तक संभलकर जीना शुरू कर दिया था. लेकिन अब कोविड उतना असरदार नहीं रहा तो लोग फिर से उतने ही बेखबर होने लगे है. वायरस और बैक्टीरिया हवा या आसपास के माहौल में मौजूद होते हैं. बस थोड़ी सी सावधानी कर उनसे बचा जा सकता है. जरा सी लापरवाही पर वो आपको बीमार करने से नहीं चूकते. सेलमोनेला टाइफी बैक्टीरिया ऐसा ही बैक्टीरिया है, जोकि जरा सी लापरवाही बरतने पर आपको अपनी बीमार बना देगा. 

इन वजहों से आ सकते हैं टाइफाइड की चपेट में

  • यदि किसी व्यक्ति को टाइफाइड है और वह शौच के लिए जाता है. वहां से आकर हाथ सही ढंग से साफ न करे और भोजन या अन्य प्रॉडक्ट को छू लेता है. स्वस्थ्य व्यक्ति फिर उसे हाथ लगा लें और उसका वही हाथ मुंह तक पहुंच जाए तो स्वस्थ्य व्यक्ति बैक्टीरिया की चपेट में आकर बीमार हो सकता है. इस तरह संक्रमित व्यक्ति यूरिन करने जाता है.
  • सही ढंग से नहीं धोता तो दूसरों में टाइफाइड फैलने का खतरा रहता है.
  • दूषित खाना खाने वाले और दूषित पानी पीने वालों में टाइफाइड फैलने का खतरा अधिक होता है.
  • संक्रमित पानी से मछली या अन्य जलीय जीवों को भोजन के रूप मेें खाने पर
  • दूषित दुग्ध प्रॉडक्ट के खाने से टाइफाइड हो जाता है

लक्षणों को पहचानिए
टाइफाइड के बैक्टीरिया के संपर्क में आप आज आए हैं तो यह बैक्टीरिया आज ही लक्षण नहीं दिखाता. इसके लक्षणों को डेवलप होने में एक से 3 सप्ताह तक का समय लग जाता है. टाइफाइड होने पर 105 डिग्री फारेनहाइट तक पहुंच जाता है. पेशेंट के सिर में दर्द, कमजोरी, थकान, पसीना अधिक आना, सूखी खांसी, वजन का तेजी से घटना, पेटट दर्द, डायरिया और बॉडी पर रेशेज होना इसके लक्षण हैं. 

15 दिन तक लेनी पड़ सकती है दवा
टाइफाइड एक बैक्टीरियल डिसीज है. इसलिए इसका इलाज भी एंटीबायोटिक दवाओं से किया जाता है. मरीज में टाइफाइड का संक्रमण अधिक है या कम यह देखा जाता है. उसी के आधार पर 7 से 15 दिन तक मरीज का कोर्स कर इलाज किया जाता है. इलाज में लापरवाही पर आंतों में इन्फेक्शन तेजी से बढ़ जाता है.

भारत में एक साल में आ रहे 45 लाख मामले
टाइफाइड का बुखार देश में तेजी से लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है. हाल में पब्लिश हुई रिपोर्ट के अनुसार, देश में एक लाख लोगों में से 360 व्यक्ति टाइफाइड की चपेट में आ जाते हैं. हर साल देश में 45 लाख मामले टाइफाइड के आ रहे हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, अन्य देशों में भी टाइफाइड के मामले बढ़े हैं. समय रहते इसकी जांच और पुष्टि होने पर इलाज कराने की जरूरत है.

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि और तरीकों को केवल सुझाव के रूप में लें. किसी भी उपचार/दवा/डाइट और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link