राजनाथ सिंह की सभा में POK की डिमांड: हिमाचल में रक्षामंत्री के सामने लोगों ने लगाए नारे; राजनाथ बोले- धैर्य रखिए, धैर्य

0
7


शिमला11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

हिमाचल विधानसभा चुनाव में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK ) का मुद्दा उठ गया है। गुरुवार को कांगड़ा के जयसिंहपुर में चुनावी सभा करने पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के सामने लोगों ने ‘POK चाहिए ‘ के नारे लगाए। इस पर राजनाथ सिंह भी एक बार तो मुस्करा उठे और उसके बाद कहा कि धैर्य रखिए, धैर्य।

यही बात राजनाथ सिंह हफ्तेभर पहले शौर्य दिवस पर कश्मीर में भी कह चुके हैं। उन्होंने पाकिस्तान को चुनौती दी कि POK के साथ जो पाकिस्तान ने किया है, उसे उसकी कीमत भुगतनी पड़ेगी।

कश्मीर में राजनाथ सिंह ने कहा था कि हमने कश्मीर का विकास शुरू कर दिया है और तब तक नहीं रुकेंगे जब तक हम गिलगित-बाल्टिस्तान नहीं पहुंच जाते।

सेना दो दिन पहले ही कह चुकी- हम पूरी तरह तैयार

रक्षा मंत्री के इसी दावे के बाद दो दिन पहले श्रीनगर में चिनार कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एडीएस औजला कह चुके कि भारतीय सेना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (POK) के शेष हिस्सों पर फिर से भारत का कब्जा करने के लिए पूरी तरह तैयार है। सेना को सिर्फ सरकार के आदेश का इंतजार है।

राजनाथ सिंह ने 1947 में बड़गाम एयरपोर्ट पर भारतीय सेना की हवाई लैंडिंग से जुड़े ऑपरेशन के 75वें वर्ष के उपलक्ष्य में 27 अक्टूबर, 2022 को श्रीनगर में आयोजित ‘शौर्य दिवस’ समारोह में बात कही थी। उस समय राजनाथ सिंह ने कहा था कि POK में निर्दोष भारतीयों के खिलाफ अमानवीय घटनाओं के लिए पूरी तरह से पाकिस्तान जिम्मेदार है। आने वाले समय में पाकिस्तान को उसके अत्याचारों का परिणाम भुगतना होगा।

राजनाथ सिंह ने कहा था कि भारतीय संसद में 22 फरवरी, 1994 को गिलगित-बाल्टिस्तान जैसे शेष हिस्सों को फिर से हासिल करने के लिए सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया गया। मोदी सरकार का उद्देश्य उस संकल्प को लागू करना है।

रक्षामंत्री के बयान पर ही औजला बोले- सेना तैयार

रक्षामंत्री के उस बयान के बाद ही चिनार कॉर्प्स के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एडीएस औजला ने कहा था, ‘केंद्र सरकार जब भी ऐसा फैसला करेगी और भारतीय सेना के पास आदेश आएंगे, तो हम पूरी तरह से तैयार हैं। हमारी परंपरागत ताकत है। हम भी आधुनिक रूप से खुद को मजबूत कर रहे हैं ताकि हमें ऐसी स्थिति में पीछे मुड़कर नहीं देखना पड़े।’

बता दें कि गिलगित-बाल्टिस्तान के पश्चिम में अफगानिस्तान और इसके दक्षिण में पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर (पीओके) है। चिनार कॉर्प्स कमांडर ने आश्वासन दिया था कि LOC पर स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है और सेना सीमाओं की रक्षा के लिए पूरी ताकत से तैयार है।

क्या है POK

POK यानि Pakistan Occupied Kashmir. इसे हम हिंदी में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर कहते हैं। यह हमारे देश का वह हिस्सा है जो जम्मू-कश्मीर के साथ पाकिस्तान की तरफ लगता है। इस पर पाकिस्तान ने 1947 में भारत-पाक बंटवारे के समय कब्जा कर लिया था। हालांकि यह भारत के जम्मू व कश्मीर का ही हिस्सा है, लेकिन पाकिस्तान इसे छोड़ने को तैयार नहीं। देश की आजादी व बंटवारे के बाद पाकिस्तान ने कबीलाई विद्रोहियों की आड़ पर इस पर कब्जा कर लिया था। मौजूदा समय पाकिस्तान ने इस क्षेत्र को गिलगिट व बाल्टिस्तान, दो हिस्सों में बांट रखा है।

खबरें और भी हैं…



Source link