यूरोप में महंगाई से लड़ाई: सरकारों ने घोषित किए राहत पैकेज; जर्मनी बुजुर्गों को 24 हजार रुपए देगा, स्पेन में ट्रेन का सफर मुफ्त

0
20


  • Hindi News
  • International
  • Inflation In Europe Governments Announced Relief Packages; Germany Will Give 24 Thousand Rupees To The Elderly, Free Train Travel In Spain

बर्लिन/लंदन/न्यूयॉर्क32 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

एशिया, अमेरिका से लेकर यूरोप तक के देशों के लोगों की बढ़ती महंगाई से कमर टूट रही है। यूरोप के देशों पर दो तरफा मार पड़ रही है। इसीलिए राहत देने के लिए कई देशों में कदम उठाए जा रहे हैं। जर्मनी ने लोगों को राहत देने और देश की अर्थव्यवस्था को चलाए रखने के लिए 65 अरब पौंड (करीब 5.15 लाख करोड़ रुपए) के पैकेज का ऐलान किया है।

हाल के दौर में यह तीसरा और सबसे बड़ा राहत पैकेज है। इस पैकेज से बुजुर्गों को 24 हजार रुपए महीना मिलेंगे। वहीं छात्रों के खाते में 16 हजार रुपए भेजे जाएंगे।

स्वीडन इमरजेंसी फंड देगा
उधर, स्पेन ने लोगों को महंगाई के मोर्चे पर राहत देने के लिए ट्रेन में यात्रा मुफ्त योजना शुरू कर दी है। अब स्पेन के लोग 300 किलोमीटर तक बगैर किसी टिकट के आ-जा सकेंगे। यह योजना इस साल के आखिर तक लागू रहेगी। दूसरी ओर, स्वीडन ने बिजली उत्पादन में तेजी लाने के लिए उद्योगों को इमरजेंसी फंड देने का ऐलान किया है। इससे पहले, सरकार घरेलू बिजली को महंगा होने से रोकने के लिए 66 हजार करोड़ रुपए का ऐलान कर चुकी है।

फिनलैंड ने बिजली महंगी होने से रोकने के लिए 1.83 लाख करोड़ रुपए का प्रस्ताव रखा है। इसी तरह स्वीडन भी अपनी बिजली की जरूरतें पूरी करने के लिए इतनी ही राशि का आपात फंड रखा है।

फिनलैंड ने बिजली महंगी होने से रोकने के लिए 1.83 लाख करोड़ रुपए का प्रस्ताव रखा है। इसी तरह स्वीडन भी अपनी बिजली की जरूरतें पूरी करने के लिए इतनी ही राशि का आपात फंड रखा है।

स्पेन में पर्यटक कर सकेंगे ट्रेन में मुफ्त यात्रा
स्पेन में महंगाई 11% के करीब पहुंच चुकी है। इस कारण मुफ्त ट्रेन यात्रा का फायदा आम लोगों के साथ ही पर्यटकों को भी मिलेगा। ताकि खर्च बढ़ने से अर्थव्यवस्था को धार मिले। जून में ही स्पेन ने 75 हजार करोड़ रुपए के राहत पैकेज का ऐलान किया था। तब टैक्स कटौती के साथ पेंशन, सब्सिडी बढ़ी थी।

विशेषज्ञों के मुताबिक 6 महीने तक यूरो की कीमत डॉलर से नीचे रहेगी। इससे यूरोप में दिक्कतें बढ़ेंगी।

विशेषज्ञों के मुताबिक 6 महीने तक यूरो की कीमत डॉलर से नीचे रहेगी। इससे यूरोप में दिक्कतें बढ़ेंगी।

लिथुआनिया में महंगाई दर 20% बढ़ी

  • यूरोप के 19 देशों में महंगाई 9 फीसदी से ऊपर चल रही है। एक साल पहले महंगाई दर महज 3 फीसदी थी।
  • यूरोजोन के 9 देशों में महंगाई 10 फीसदी से ऊपर है। इसी जोन में आने वाले लिथुआनिया, लातविया में तो महंगाई दर 20 फीसदी के स्तर को पार कर चुकी है।
  • यूरोप में अकेला फ्रांस ही है, जहां महंगाई 6.5 फीसदी है, जो यूरोप में सबसे कम है।
  • ब्रिटिश नियामक कह चुका है कि गैस और बिजली के दाम अक्टूबर में दोगुने हो जाएंगे। इससे लाखों लोगों की दिक्कत बढ़ेगी।
  • महंगाई बढ़ने की सबसे बड़ी वजह है ईंधन के दाम बढ़ना। ईंधन के दाम 38.3% सालाना बढ़े हैं।

जर्मनी ने किया 7.5 लाख करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान
यूक्रेन-रूस युद्ध शुरू होने के बाद से जर्मनी ने अब तक तीन बार राहत पैकेज का ऐलान किया है। ताजा पैकेज सबसे बड़ा है। इससे पहले उसने दो बार में 2.37 करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान किया था। लोगों के लिए उसने ट्रेन में सफर के लिए 712 रुपए प्रति महीने की योजना शुरू की थी। इसका खूब प्रयोग हुआ।

खबरें और भी हैं…



Source link