मुरुघा मठ के संत शरणारू की जमानत पर सुनवाई कल: मेडिकल ग्राउंड पर बेल के लिए किया अप्लाई; दो नाबालिगों के यौन उत्पीड़न का आरोप

0
28


  • Hindi News
  • National
  • Karnataka Sexual Assault Case; Saint Shivamurthy Murugha Sharanaru Arrested | Lingayat | Karnataka News

चित्रदुर्गएक घंटा पहले

यौन उत्पीड़न के आरोपी मुरुघा मठ के संत शिवमूर्ति मुरुघा शरणारू की जमानत की अर्जी पर सुनवाई चित्रदुर्ग जिला अदालत में सोमवार को होगी। शरणारू समेत सभी चार आरोपियों की जमानत याचिका पर शनिवार को डाली गई थी, जिस पर अदालत ने सरकारी वकील की आपत्ति सोमवार तक मांगी है। सूत्रों के अनुसार, मेडिकल ग्राउंड पर संत की जमानत के लिए आवेदन किया गया है। फिलहाल, पुलिस द्वारा चित्रदुर्ग कस्बे के डीएसपी कार्यालय में शरणारू से पूछताछ की जा रही है।

इससे पहले शुक्रवार को जिला सत्र अदालत ने मुरुघा मठ के मुख्य पुजारी शिवमूर्ति मुरुघा शरणारू को चार दिन की पुलिस हिरासत में भेजा था। वह 5 सितंबर तक पुलिस हिरासत में रहेंगे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस ने बेंच से 5 दिनों की हिरासत की मांग की थी। सीने में दर्द की शिकायत के बाद संत को जिला अस्पताल ले जाया गया था।

बिना बताए अस्पताल ले जाने पर कोर्ट ने जताई नाराजगी
शरणारू पर मठ के स्कूल में पढ़ने वाली 2 नाबालिग लड़कियों के यौन उत्पीड़न का आरोप है। कर्नाटक पुलिस ने शरणारू को गुरुवार को गिरफ्तार किया था, लेकिन शुक्रवार को उन्हें सीने में दर्द के बाद हॉस्पिटल में एडमिट किया गया था। डिस्ट्रिक्ट सेशन कोर्ट जज कोमला ने लिंगायत संत को अदालत में जानकारी दिए बिना अस्पताल में भर्ती कराने पर नाराजगी जताई थी। साथ ही उन्हें अस्पताल से सीधे कोर्ट लाने का आदेश जारी किए थे, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें व्हील चेयर पर कोर्ट में पेश किया था।

सीने में दर्द की शिकायत के बाद से हॉस्पिटल में एडमिट
शिवमूर्ति मुरुघ शरणारू को सीने में दर्द की शिकायत के बाद जिला अस्पताल के ICU में भर्ती करवाया गया। डॉक्टर्स का कहना है कि शरणारू की ECG रिपोर्ट में हार्ट प्रॉब्लम सामने आई है, इसलिए उन्हें आगे की जांच के लिए हॉस्पिटल में ही रहना होगा।

पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज
शिवमूर्ति मुरुघा शरणारू पर नाबालिगों का यौन उत्पीड़न करने का आरोप है। पीड़ित लड़कियों ने न्याय की मांग करते हुए मैसूर में ‘ओदानदी’ NGO से संपर्क किया था। उन्हें 26 अगस्त को मैसूर में बाल कल्याण समिति के सामने पेश किया गया और उसी रात मुरुघा शरण समेत 5 के खिलाफ कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया।

मठ के स्कूल में पढ़ती हैं पीड़ित
आरोप लगाने वाली किशोरियों का कहना है कि वे मठ की ओर से संचालित स्कूल में पढ़ती हैं, उनकी उम्र 15 और 16 साल है। संत ने उनका साढ़े तीन साल से अधिक समय तक यौन शोषण किया। पीड़ित 24 जुलाई को हॉस्टल से निकलीं और 25 जुलाई को कॉटनपेट पुलिस स्टेशन पहुंचीं। इसके बाद 26 अगस्त को उन्होंने मैसूर के नजराबाद पुलिस स्टेशन में लिंगायत संत के खिलाफ FIR दर्ज कराई थी।



Source link