महिलाओं की तुलना में पुरुषों को अधिक होता है पेट का कैंसर, इस उम्र के बाद चलता है पता

0
20


Common Cancer In Men: पिछले कुछ साल में कैंसर बहुत तेजी से फैला है. इस जानलेवा रोग से ग्रसित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. आज के समय में कैंसर जितनी आम बीमारी बन गई है, इसका एक टाइप स्टमक कैंसर (Stomach Cancer) यानी पेट में होने वाला  कैंसर उतना ही रेयर (Rare cancer) है. यानी यह अच्छी बात है कि पेट के कैंसर के केस, कैंस के अन्य मामलों की तुलना में काफी कम देखने को मिलते हैं. लेकिन इस फैक्ट को जान लेना बहुत जरूरी है कि कैंसर का ये प्रकार महिलाओं की तुलना में पुरुषों को अधिक शिकार बनाता है. यहां इस विषय में विस्तार से जानें…

लेट ऐज की बीमारी है स्टमक कैंसर 
आज के समय में पेट का कैंसर एक लेट ऐज में होने वाली बीमारी है. यह अच्छी बात है कि पुरुषों में अधिक होने वाला यह कैंसर आमतौर पर 60 साल के बाद ही होता है. 
अलग-अलग रिसर्च और रिपोर्ट्स को आधार बनाते हुए कहें तो पेट का कैंसर पुरुषों में 60 साल की उम्र से लेकर 75 साल की उम्र में देखने को मिलता है. जबकि महिलाओं में यह कैंसर 70 साल की उम्र के बाद होता है.

कैंसर के बारे में जान लें यह बात

कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसका एकदम शुरुआती स्तर पर पता चलना बहुत मुश्किल होता है. क्योंकि इस बीमारी के लक्षण जब तक नजर नहीं आते, तब तक इसे डायग्नॉज करना काफी मुश्किल होता है. यही कारण है कि ज्यादातर केसेज में कैंसर के बारे में पता ही तब चलता है, जब यह बहुत फैल चुका होता है. इसलिए स्टमक कैंसर का भी पता भले ही बाद में चले लेकिन इसकी शुरुआत कई साल पहले हो चुक होती है. लेकिन पेट का कैंसर होने के कारण पेट से जुड़ी समस्याएं होती हैं और हम सभी पेट की समस्याओं को सिर्फ पाचन, गैस और कब्ज से जोड़कर ही देखते हैं. इसलिए कैंसर के लक्षणों पर ध्यान नहीं दे पाते.

क्या हैं पेट के कैंसर के लक्षण?

पेट के कैंसर के लक्षण इस बात पर निर्भर करते हैं कि यह कैंसर पेट के किस हिस्से में पनप रहा है. हालांकि कुछ स्पेसिफिक लक्षणों के आधार पर आप इसके बारे में जान सकते हैं. जैसे…

  • चक्कर आना
  • हर समय थकान रहना
  • स्टूल (पॉटी) का रंग ब्लैक आना
  • जी मिचलाना
  • उल्टी आना और इसमें हल्का-सा ब्लड भी होना
  • सीने में जलन और भारीपन
  • भूख कम लगना या बिल्कुल ना लगना
  • कुछ फूड्स की गंध से  ही घृण होना
  • अधिक खूशबू वाले और मसालेदार फूड को देखकर जी मिचलाना
  • पेट के ऊपरी हिस्से (नाभि से ऊपर का हिस्सा) में दर्द होना या अक्सर दर्द बना रहना.
  • तेजी से वजन कम होना

उपचार 
पेट का कैंसर जितना रेयर है उतना ही इसका इलाज अन्य कैंसर की तुलना में आसान भी है. क्योंकि यदि इस कैंसर के बारे में शुरुआती स्तर पर ही पता चल जाता है तो इसे ऑपरेशन करके निकाला जा सकता है.
मोशन के साथ ब्लड आए या उल्टी में ब्लड हाए तो डॉक्टर को तुरंत मिलें.

क्यों होता है पेट का कैंसर?
ज्यादातर रिसर्च में पेट के कैंसर की मुख्य वजह के रूप में तनाव ही सामने आया है. यानी जो लोग अधिक तनाव में रहते हैं, उन्हें पेट के कैंसर की आशंका बढ़ जाती है. यदि मानसिक तनाव लगातार बना हुआ है तो इससे पार पाने में किसी मनोचिकित्सक की सहायता ली जा सकती है.

 

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों को केवल सुझाव के रूप में लें, एबीपी न्यूज़ इनकी पुष्टि नहीं करता है. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें. 

यह भी पढ़ें: फिर बढ़ गया है मच्छरों का प्रकोप, इन आसान तरीकों से करें बचाव

यह भी पढ़ें: पुरुषों को रोज शैंपू करना चाहिए या नहीं, ये आपके बालों के लिए अच्छा है या बुरा?

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link