महाराष्ट्र के पालघर से 1400 करोड़ की ड्रग्स बरामद: केमिस्ट्री पोस्ट ग्रेजुएट सोशल मीडिया के जरिए बेचता था ड्रग्स, रैकेट के 5 लोग अरेस्ट

0
7
Advertisement


  • Hindi News
  • National
  • Chemistry Post Graduate Used To Sell Drugs Through Social Media, 5 People Arrested In The Racket

मुंबई5 घंटे पहले

महाराष्ट्र क्राइम ब्रांच की एंटी-नारकोटिक्स सेल, वर्ली यूनिट ने पालघर जिले के नालासोपारा में दवा बनाने वाली कंपनी पर छापेमारी की है। इस दौरान 1400 करोड़ रुपए कीमत की 700 किलो से ज्यादा मेफेड्रोन (ड्रग्स) जब्त की गई। मामले में 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें 4 आरोपी मुंबई से जबकि एक व्यक्ति को नालासोपारा में पकड़ा गया।

सीसीपी (ANC) दत्ता नालवाड़े ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि 52 साल के मुख्य आरोपी के पास ऑर्गेनिक केमिस्ट्री में पोस्ट-ग्रेजुएट की डिग्री है। उसने ड्रग्स बनाने के फॉर्मूले का ईजाद कर लिया था और खुद ही ड्रग्स बनाता था। ये ड्रग्स हाई क्वालिटी की होती थी। आरोपी 25 किलो से कम नशीली दवा नहीं बेचता था। ड्रग्स की सप्लाई के लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करते थे।

सीसीपी (ANC) दत्ता नालवाड़े ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि 52 साल के मुख्य आरोपी के पास ऑर्गेनिक केमिस्ट्री में पोस्ट-ग्रेजुएट की डिग्री है।

पिछले कुछ महीने की सबसे बड़ी खेप बरामद
एक अफसर ने बताया कि हमे यूनिट में प्रतिबंधित दवा की सूचना मिली थी, जिसके बाद छापेमारी की गई। उस दौरान वहां प्रतिबंधित दवा मेफेड्रोन बनाए जाने की बात सामने आई। अफसर के मुताबिक, यह हाल के दिनों में मादक पदार्थों की सबसे बड़ी बरामदगी में से एक है। मेफेड्रोन को ‘म्याऊ म्याऊ’ या एमडी भी कहा जाता है। यह राष्ट्रीय नार्कोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक सब्सटांसेस (NDPS) ऐक्ट के तहत प्रतिबंधित है।

नवी मुंबई में 362 करोड़ की हिरोइन जब्त
इससे पहले नवी मुंबई के क्राइम ब्रांच की टीम ने 15 जुलाई को करोड़ों रुपए की हेरोइन जब्त की थी। अंतर्राष्ट्रीय मार्केट में इस हेरोइन की कीमत 362.5 करोड़ रुपए आंकी गई थी। ड्रग्स की खेप को लेकर एक कंटेनर दुबई से नवी मुंबई के न्हावाशेवा पोर्ट में लाया गया था। क्राइम ब्रांच को इस बात की गुप्त जानकारी मिल गई थी कि यह कंटेनर नवकार लॉजिस्टिक्स के पनवेल के पास आजिवली गांव का है।

क्राइम ब्रांच की टीम ने यह खुलासा किया था कि जो हेरोइन की खेप बरामद हुई, वो एक अंतर्राष्ट्रीय ड्रग्स रैकेट के नेटवर्क के सप्लाई चेन का एक हिस्सा है। इस पूरे रैकेट के नेटवर्क से न सिर्फ देश के कई इलाकों में लोग जुड़े हैं बल्कि यह रैकेट दुनिया के अन्य देशों में भी फैला हुआ है।

नवी मुंबई के क्राइम ब्रांच की टीम ने 15 जुलाई को करोड़ों रुपए की हेरोइन जब्त की थी।

नवी मुंबई के क्राइम ब्रांच की टीम ने 15 जुलाई को करोड़ों रुपए की हेरोइन जब्त की थी।



Source link

Advertisement