ब्रिटेन में बिजली संकट गहराया: पब-रेस्त्रां जैसे छोटे कारोबार पर तालाबंदी की नौबत, घरों के बिजली बिल 80% बढ़ सकते हैं

0
22


  • Hindi News
  • International
  • UK Electricity Crisis Lockdown On Small Businesses Like Pub restaurants, Electricity Bills Of Households May Increase By 80%

लंदन3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

ब्रिटेन में ऊर्जा के बढ़ते खर्च को लेकर दहशत है। अगले माह से घरों के बिजली बिल में 80 प्रतिशत बढ़ोतरी हो सकती है। घरों के गैस और बिजली बिलों में तो सरकार कुछ रियायत दे सकती है। लेकिन, बिजनेस सेक्टर को बहुत कम छूट मिलती है। उद्योग, व्यापार जगत से जुड़े संगठनों ने आगाह किया है कि यदि आसमान छूते बिलों से राहत नहीं मिली तो बिजली की अधिक खपत वाले बार और रेस्तरां जैसे छोटे कारोबारों के बंद होने की सुनामी आ जाएगी।

पिछले सप्ताह छह बड़ी बार चेन, ब्रुअरीज और ब्रिटिश बीयर, पब एसोसिएशन के प्रमुखों ने सरकार से जल्द हस्तक्षेप करने की अपील की है। उनका कहना है, ऐसा नहीं हुआ तो बड़ी संख्या में बार बंद हो जाएंगे। जिन कंपनियों और कारोबारियों को अपने बिजली कांट्रेक्ट फिलहाल रिन्यू नहीं करना हैं, वे भी भविष्य की स्थितियों से परेशान हैं। हर गुजरते दिन के साथ लिंडसे आर्मस्ट्रांग की दुविधा बढ़ती जाती है। अक्टूबर की शुरुआत में उन्हें अपना बिजली कनेक्शन रिन्यू करना है। लेकिन, उसका शुल्क 24 लाख रुपए से बढ़कर एक करोड़ रुपए होने के कारण उन्हें सोचना पड़ रहा है।

कुछ कैफे और कारोबार बंद
लिंडसे उत्तर पूर्व लंदन में छोटे शहर वाशिंगटन में एक बार की मालिक हैं। वे बताती हैं, हर दिन मूल्य बढ़ रहा है। वे मौजूदा कीमत पर निश्चित अवधि का कांट्रेक्ट नहीं करना चाहती हैं। उन्हें उम्मीद है, नई सरकार दखल देगी। लिंडसे अकेली नहीं हैं। स्माल बिजनेस फेडरेशन ने कहा है कि छोटी दुकानों, लांड्री से लेकर हर तरह के कारोबार प्रभावित होंगे। ग्रुप का अनुमान है कि फरवरी 2021 के बाद छोटे व्यवसायों के बिजली बिल 350 प्रतिशत और गैस का बिल 400 प्रतिशत बढ़ा है। छोटे रेडियो स्टेशन, कैफे और दुकानों सहित कुछ कारोबार तो पहले ही बंद हो चुके हैं। फूड बैंक, रेस्ट हाउस सहित अन्य कारोबारों से जुड़े लोग बढ़ते बिलों से चिंतित हैं।

लोगों की आमदनी घट सकती है
बैंक ऑफ इंग्लैंड का अनुमान है कि ब्रिटिश अर्थव्यवस्था इस साल लंबी मंदी के दौर में प्रवेश करेगी। लोगों की आमदनी में जबर्दस्त गिरावट आई है। महंगाई 40 साल में सबसे अधिक है। यह जुलाई में एक साल पहले के मुकाबले 10.1 प्रतिशत बढ़ गई। दूसरी ओर वेतन और आय इस हिसाब से नहीं बढ़ रही है।

खबरें और भी हैं…



Source link