फेक न्यूज एक्सपोज: 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी में सरकार को हुआ 2.8 लाख करोड़ का नुकसान? जानिए इस वायरल फोटो का सच

0
28
Advertisement


  • Hindi News
  • No fake news
  • Government Lost Rs 2.8 Lakh Crore In 5G Spectrum Auction? Know The Truth Of This Viral Photo

33 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

क्या हो रहा है वायरल : भारत में 5G सर्विस के लिए पहली 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी सोमवार को हुई। अब इससे जुड़ी टाइम्स ऑफ इंडिया के अखबार के बिजनेस पेज में छपी खबर की फोटो वायरल हो रही है। खबर की हैडिंग में 28 लाख करोड़ का आंकड़ा लिखा है। इसके आगे लिखा है- 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी में 2.8 लाख करोड़ का रिकॉर्ड नुकसान।

इस फोटो को कांग्रेस के कई सोशल मीडिया अकाउंट से शेयर किया गया है। कांग्रेस उत्तर प्रदेश अकाउंट ने फोटो शेयर कर लिखा- केवल जीरो गिनिए और देश के खजाने को हुए नुकसान का अंदाजा लगाइए। 2G के दौरान काल्पनिक आंकड़ें देने वाले 5G के आवंटन में हुए वास्तविक घपले पर मौन क्यों हैं।

मध्यप्रदेश कांग्रेस सेवा दल ने लिखा- दो लाख अस्सी हजार करोड़ का घोटाला पकड़ाया है भाई, दर्द तो होगा ही गांधी से।

बिहार यूथ कांग्रेस ने लिखा- 5G स्पेक्ट्रम की बेस प्राइस सरकार ने ही 4.3 लाख करोड़ रखी थी, लेकिन सरकार को नीलामी से महज 1.5 लाख करोड़ ही मिले। नरेंद्र मोदी सरकार ने 2.8 लाख करोड़ का घोटाला किया है।

और सच क्या है?

  • पड़ताल की शुरूआत में हमने टाइम्स ऑफ इंडिया के सोमवार और मंगलवार को प्रकाशित हुए अखबार चेक किए। जहां 5G स्पेक्ट्रम से जुड़ी खबर 2 अगस्त को प्रकाशित हुए टाइम्स ऑफ इंडियाअखबार के बिजनेस पेज पर मिली।
  • 2 अगस्त को बिजनेस पेज पर छपी खबर की हैडिंग में लिखा है- 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी से केंद्र की 1.5 लाख करोड़ की रिकॉर्ड कमाई।
  • पड़ताल के दौरान हमें इस खबर की असली तस्वीर टाइम्स ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय संपादक पंकज डोभाल के एक पोस्ट में भी मिली।

  • 2 अगस्त को पंकज ने टाइम्स बिजनेस पेज की फोटो शेयर कर लिखा- जब आप रिकॉर्ड स्पेक्ट्रम नीलामी के साथ दिन की शुरुआत करते हैं और रिकॉर्ड ऑटो बिक्री के साथ दिन समाप्त करते हैं, तो बिजनेस पेज कैसा दिखता है।
  • 2 अगस्त को प्रकाशित हुए टाइम्स ऑफ इंडिया के बिजनेस पेज को देखने पर पता चलता है कि वायरल फोटो में खबर की हैडिंग को एडिट किया गया है।​​​​​​
  • साफ है कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रही फोटो एडिटेड यानी फेक है। 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी में केंद्र सरकार को 2.8 लाख करोड़ का नुकसान नहीं बल्कि 1.5 लाख करोड़ की कमाई हुई है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement