पार्टनर के खर्राटों ने रातभर सोने नहीं दिया? ये टिप्स आपकी मदद करेंगे

0
16


How to Control Snoring Problem: सोते समय खर्राटे लेने की समस्या कई लोगों के साथ होती है. यूं तो पुरुष खर्राटे ज्यादा लेते हैं लेकिन ऐसी महिलाओं की भी अच्छी-खासी तादाद है, जिनके खर्राटों के कारण (Cause of Snoring) परिवार के अन्य लोग सो नहीं पाते हैं. फिर भी आमतौर पर खर्राटे मुख्य रूप से पुरुषों से संबंंधित समस्या माने जाते हैं.

अगर आप भी उन पीड़ित महिलाओं में शामिल हैं, जो अपने पतिदेव के खर्राटों के कारण रातभर सो नहीं पाती हैं तो आपके लिए यहां कुछ जरूरी टिप्स बताए जा रहे हैं. इनकी मदद से आप अपने पति के खर्राटों को काफी हद तक कम कर सकती हैं और खुद चैन की नींद भी सो सकती हैं…

खर्राटों के मुख्य कारण 

किसी भी समस्या को दूर करना हो तो उसके कारणों का निदान करना जरूरी होता है. खर्राटों की समस्या को दूर करने के लिए आप उन कारणों को दूर करने का प्रयास करें, जिनकी वजह से खर्राटे आते हैं. इस समस्या के तीन मुख्य कारण हैं और ये तीनों ही लाइफस्टाइल से जुड़े हैं…

  • ओवरवेट होना, जिन लोगों का वजन अपने शरीर की लंबाई की तुलना में बहुत अधिक होता है आमतौर पर उन्हें खर्राटों की समस्या होती है.
  • जो लोग बहुत अधिक स्मोकिंग करते हैं, उन्हें खर्राटे आने की समस्या हो जाती है.
  • एल्कोहॉल को अत्यधिक मात्रा में लेने वाले लोगों को भी खर्राटों की समस्या होती है. 
  • अच्छी बात यह है कि इन तीनों ही समस्याओं को नियंत्रित करना व्यक्ति के अपने हाथ में है. यदि इसके बाद भी समस्या होती है तो यहां कुछ टिप्स बताई जा रही हैं, उनका पालन करें.

सबसे पहला काम
खर्राटों से बचने का और इनके कारण होने वाली आवाज को कम करने का सबसे पहला तरीका यह है कि आप पीठ के बल ना सोएं बल्कि करवट लेकर सोएं. बेहतर होगा कि आप लेफ्ट हैंड साइड पर सोएं. पीठ के बल सोने से आपके गले पर दबाव पड़ता है और आपकी जीभ भी सिकुड़कर फैरेक्स (Pharynx) यानी ग्रासनी नली की तरफ चली जाती है, इससे खर्राटों की समस्या और इनकी आवाज बहुत तेज होने की समस्या होती है.

नाक और गला सूखना 

कुछ लोगों को इस तरह की समस्या होती है कि उनकी नाक और गले में हर समय सूखापन रहता है. इस कारण गले और नाक में इरिटेशन और सूजन की समस्या होती है, जो खर्राटों का कारण बन सकती है. इसलिए आप दिन में पर्याप्त मात्रा में (8 से 10 गिलास) पानी पिएं. साथ में रात को सोने से पहले अपने कमरे में ह्यूमिडिफायर (Humidifier) रख लें. यह आपके गले और नाक को ड्राइनेस से बचाएगा.

स्टीम कर सकती है मदद
रात को सोने से पहले यदि आप विक्स या इजीब्रीद कैप्सूल से भाप लेकर सोते हैं तो आपका म्यूकस लूज हो जाता है और नाक तथा गले की सूजन कम होती है. इससे खर्राटे भी कम आएंगे और नींद भी अच्छी आएगी.

खर्राटों से होने वाली समस्याएं

  • यदि आप खर्राटे लेते हैं तो इसका अर्थ यह बिल्कुल नहीं है कि सिर्फ दूसरों की नींद डिस्टर्ब होती है. बल्कि आपकी सेहत को भी भयंकर नुकसान हो रहे होते हैं. क्योंकि खर्राटे लेने की स्थिति इस बात का भी संकेत है कि आपके शरीर और ब्रेन को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन की सप्लाई नहीं हो रही है और इस कारण कई घंटों की नींद लेने के बाद भी आप अगले दिन थकान का अनुभव करते हैं. 
  • खर्राटे लेने वाले लोगों को फोकस संबंधी समस्या भी होती है. यानी ये किसी भी काम को एकाग्र भाव से करने में समस्या फील करते हैं.
  • खर्राटे आपके डिसिजन मेकिंग पॉवर को अफेक्ट करते हैं और भ्रम की स्थिति का अनुभव करते हैं.
  • यानी कुल मिलाकर यह समस्या आपकी हेल्थ, पर्सनैलिटी और करियर सभी पर बुरा असर डालती है. साथ में परिवार परेशान होता है सो अलग. इसलिए अपने खर्राटों को जल्दी से जल्दी कंट्रोल करें. यहां बताई गई विधियां प्रभावी हैं ट्राई करके देखें.

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों को केवल सुझाव के रूप में लें, एबीपी न्यूज़ इनकी पुष्टि नहीं करता है. इस तरह के किसी भी उपचार/दवा/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें. 

यह भी पढ़ें: पेट में हो कैंसर तो देखने को मिलते हैं ये शुरुआती लक्षण, बढ़ने से रोकें ये जानलेवा बीमारी

यह भी पढ़ें: दूधिया निखार से चमक उठेगा चेहरा, घर में लगाएं ये दो शानदार फेस पैक

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link