पाकिस्तान ने 8 महीने बाद तोड़ा सीजफायर: अरनिया सेक्टर में BSF के जवानों पर की फायरिंग, मिला करारा जवाब

0
13


  • Hindi News
  • National
  • Pakistan Violates Ceasfire With India; Indian Forces Respond | India Pakistan News

श्रीनगर10 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

पाकिस्तान ने मंगलवार को जम्मू-कश्मीर में इंटरनेशनल बॉर्डर पर सीजफायर का उल्लंघन किया है। अरनिया सेक्टर में पाकिस्तानी रेंजर्स ने BSF के पेट्रोलिंग दस्ते पर फायरिंग शुरू कर दी। यह फायरिंग तब की गई जब भारतीय जवान बॉर्डर पर बाड़ लगाने का काम कर रहे थे। BSF जवानों ने भी जवाबी फायरिंग की।

BSF के अधिकारियों ने जानकारी दी कि पाकिस्तान की तरफ से पहले फायरिंग की गई। जिसके बाद भारत ने जवाबी फायरिंग की। बता दें कि करीब 8 महीने बाद पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन किया है। इससे पहले जनवरी में अरनिया सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से फायरिंग की गई थी। इस दौरान सेना के जवानों ने एक 50 साल के घुसपैठिए को मार गिराया था।

अधिकारियों ने बताया कि बीएसएफ के वरिष्ठ अधिकारी सीमा चौकी पर पहुंच गए हैं और स्थिति पर करीबी नजर रखे हुए हैं। जवानों को किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचा है।

पाक रेंजरों और बीएसएफ के बीच हुई फ्लैग मीटिंग
फायरिंग के बाद दोपहर 1:45 मिनट पर बीएसएफ और पाक रेंजर्स के बीच एक कॉय कमांडर लेवल की फ्लैग मीटिंग हुई। जिसमें अकारण गोलीबारी के मुद्दे पर चर्चा हुई। इस मीटिंग का नतीजा ये रहा कि दोनों पक्ष बॉर्डर पर संयम बरतने पर सहमत हुए। साथ ही भविष्य में मौजूदा मानदंडों का सम्मान करने पर सहमत हुए।

नवम्बर 2003 में भारत और पाकिस्तान की सरकारों ने LOC पर सीजफायर एग्रीमेंट किया था। जिसके मुताबिक दोनों देशों की सेनाएं एक दूसरे पर गोलीबारी नहीं करेंगी।

नवम्बर 2003 में भारत और पाकिस्तान की सरकारों ने LOC पर सीजफायर एग्रीमेंट किया था। जिसके मुताबिक दोनों देशों की सेनाएं एक दूसरे पर गोलीबारी नहीं करेंगी।

2020 में रिकॉर्ड सीजफायर उल्लंघन
पाकिस्तान ने 2020 में रिकॉर्ड 4100 से ज्यादा बार सीजफायर तोड़ा था। इस दौरान नवम्बर में 128 बार, जबकि अक्टूबर में 394 बार सीजफायर तोड़ा। 2020 में सीजफायर उल्लंघन में जम्मू-कश्मीर के 21 लोगों की मौत हुई, जबकि 70 से ज्यादा लोग घायल हुए थे। 2019 में 3233 बार सीजफायर तोड़ा गया। 2015 में 405 बार और उससे पहले 2014 में 583 बार सीजफायर तोड़ा गया।

2003 में सीजफायर को लेकर हुआ था एग्रीमेंट
नवम्बर 2003 में भारत और पाकिस्तान की सरकारों ने LOC पर सीजफायर एग्रीमेंट किया था। जिसके मुताबिक दोनों देशों की सेनाएं एक दूसरे पर गोलीबारी नहीं करेंगी। तीन साल तक यानी 2006 तक दोनों तरफ से इस सीजफायर को माना गया। लेकिन, उसके बाद से पाकिस्तान ने लगातार सीजफायर का उलंघन किया। जिसकी आड़ में LOC के करीब बनाए गए आतंकी लॉन्चपैड्स से घुसपैठ की न सिर्फ कोशिशें हुईं, बल्कि पाकिस्तानी सेना ने घुसपैठ करवाने में मदद भी की।

पाकिस्तान ने आतंकी का शव लिया
भारत ने पाकिस्तान को सोमवार को लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी का शव सौंप दिया। खास बात यह है कि 20 सालों में पहली बार पाकिस्तान ने एक आतंकी को अपना नागरिक माना है। सेना के एक अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान ने इससे पहले जम्मू-कश्मीर में आतंकी गतिविधियों में शामिल अपने नागरिकों के शव लेने से हमेशा इनकार किया है। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

खबरें और भी हैं…



Source link