पद्मश्री कमला से ICU में जबरन करवाया डांस: तबीयत बिगड़ गई थी, 70 साल की कमला बोलीं- मना करने पर भी नहीं मानी एक्टिविस्ट

0
32


  • Hindi News
  • National
  • Odisha Hospital Controversy; Padmashree Awardee Kamala Pujari Dance Video | Cuttack News

5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

21 अगस्त को किडनी की समस्या के चलते पद्मश्री कमला पुजारी को हॉस्पिटल में एडमिट किया गया था। अब कटक के हॉस्पिटल में कमला से जबरन डांस करवाने का वीडियो सामने आया है। इस पर कमला पुजारी का रिएक्शन भी सामने आया है। कमला ने बताया कि उनके बार-बार मना करने के बावजूद, ममता बेहरा नाम की एक सामाजिक कार्यकर्ता ने उनसे जबरन डांस करवाया।

कमला पुजारी को 25 अगस्त को SCB हॉस्पिटल लाया गया था और 29 अगस्त को उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया।

कमला पुजारी को 25 अगस्त को SCB हॉस्पिटल लाया गया था और 29 अगस्त को उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया।

आगे बढ़ने से पहले इस खबर पर अपनी राय जरूर बताएं…

मामले की जांच के लिए बनाया पैनल
SCB अस्पताल के चिकित्सा विभाग के प्रमुख प्रो. जयंत पांडा की अध्यक्षता में जांच पैनल बनाया गया है। इसमें प्रशासनिक अधिकारी अविनाश राउत और प्रोफेसर बीके बेहरा सदस्य हैं। समिति का कहना है कि वे हॉस्पिटल की नर्सों, वॉर्ड बॉयज और सामाजिक कार्यकर्ता को पूछताछ के लिए कोरापुट से बुलाएंगे। जांच के बाद अस्पताल अधीक्षक को रिपोर्ट सौंपी जाएगी।

डांस के बाद बिगड़ गई थी कमला की हालत
कमला ने कहा है- “मैं वहां डांस नहीं करना चाहती थी, लेकिन मुझे जबरन ऐसा करने के लिए मजबूर किया। मेरे बार-बार इनकार करने के बावजूद, उसने (ममता बेहरा नाम की एक सामाजिक कार्यकर्ता) ने मेरी एक भी नहीं सुनी। बल्कि बीमार होने पर भी मुझे नाचना पड़ा था। नतीजतन, मैं थक गई और मेरी हालत बिगड़ गई।”

पुजारी को पांच दिनों तक इलाज के बाद सोमवार को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

हॉस्पिटल की सफाई- ICU में नहीं थीं कमला
हालांकि हॉस्पिटल के अधिकारियों ने अपनी सफाई में कहा कि पुजारी को ICU में नहीं बल्कि एक स्पेशल केबिन में भर्ती कराया गया था। अस्पताल के रजिस्ट्रार डॉ. अविनाश राउत ने कहा- “जो महिला पुजारी से डांस करवा रही थी वह भी केबिन में उससे मिलने आती थी। पुजारी के अटैंडर राजीव हियाल ने भी कहा कि वह बेहरा को नहीं जानते।”

वीडियो वायरल होने के बाद ममता ने अपनी सफाई में कहा कि इसके पीछे उनका कोई बुरा इरादा नहीं था। वे केवल पुजारी के आलस्य को दूर करना चाहती थीं।

कमला पुजारी को 2019 में जैविक खेती को बढ़ावा देने और धान समेत कई फसलों के स्वदेशी बीजों की 100 से अधिक किस्मों को संरक्षित करने के लिए पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।

कमला पुजारी को 2019 में जैविक खेती को बढ़ावा देने और धान समेत कई फसलों के स्वदेशी बीजों की 100 से अधिक किस्मों को संरक्षित करने के लिए पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।

परजा समुदाय ने की कार्रवाई की मांग
ओडिशा में कोरापुट के परजा आदिवासी समुदाय ने घटना की कड़ी निंदा की है। उन्होंने आने वाले दिनों में ममता के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

खबरें और भी हैं…



Source link