नी रिप्लेसमेंट के बाद फिर से योगाभ्यास करने से पहले इन बातों का जरूर रखें ख्याल

0
19


Returning To Yoga After Knee Replacement: योग(Yog) शरीर में किसी भी प्रकार की समस्या को दूर करने का सबसे बेहतरीन उपाय है. इसके जरिए आप ना केवल बाहरी रूप से स्वस्थ्य रहते हैं बल्कि यह आपको आंतरिक रूप से भी फिट और एक्टिव बनाए रखने में मदद करता है. योग आपके मसल्स और ज्वाइंट को भी फ्लेक्सिबल बनाने में मदद करता है. आपको बस कुछ बातों का ध्यान रखना होता है कि कौन ससे योग किस बॉडी पार्ट के लिए सही है और उसे किस तरह करना सही रहेगा, तभी उसका सही फायदा मिल पाता है. 

अगर आपने हाल ही में नी रिप्लेसमेंट सर्जरी कराई है और आप पहले से योग करते आ रहे थे और सर्जरी के बाद फिर से यह अभ्यास शुरू करना चाहते हैं तो आपको कुछ बातों का ख्याल रखना जरूरी है. आपको पहले से ज्यादा अलर्ट रहने की जरूरत है. आइए आज हम आपको इन्हीं कुछ प्वांइटस के बारे में बताने आए हैं कि आपको नी रिप्लेसमेंट के बाद दोबारा योगाभ्यास(Tips toYoga After Knee Replacement) करते वक्त किन किन बातों का ख्याल रखना चाहिए.

योगाभ्यास से पहले डॉक्टर से मिले
नी रिप्लेसमेंट के बाद आप एक बार फिर योगाभ्यास शुरू करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें. उनसे सलाह लेने के बाद ही आप अपने अभ्यास को शुरू कर सकते हैं. क्योंकि आपका बॉडी पार्ट पहले जैसा नहीं रह गया है. 

धीमी करें शुरुआत 
डॉक्टर की सलाह के बाद अगर आपको परमिशन मिल जाए कि आप योगाभ्यास कर सकते हैं तो आपको पहले जैसे ही अभ्यास शुरू नहीं कर देना. पहले आपकी बॉडी कुछ और थी और अब सर्जरी के बाद कुछ और है. जिसमें आपको धीरे धीरे अभ्यरस शुरू करने चाहिए ताकि आप अपने स्टेमिना को समझ सके उसके बाद आप धीरे धीरे अभ्यास के बाद अपनी शरीर के अनुसार क्षमता को बढ़ाएं.

सर्जरी के बाद घुटनों पर ना डालें प्रेशर
योग करते वक्त आपको कुछ बातों का जरूर ध्यान रखना चाहिए जिससे कि आपके घुटनों पर किसी प्रकार का प्रेशर ना आए. जैसे कि आप वज्रासन या चेयरपोज आदि जैसे अभ्यास करने से बचें. इससे आपके घुटनों पर प्रेशर पड़ सकता है. कोई अभ्यास से पहले अपने ट्रेनर की सलाह जरूर लें और घुटनों पर प्रेशर पड़ने वाले कोई भी योग ना करें.

ज्यादा देर तक एक ही पोजिशन वाले ना करें योग
योगाभ्यास करते वक्त इस बात का जरूर ख्याल रखें कि आप कोई भी ऐसा आसन ना करें जिसमें आपको एक ही स्थिति में काफी देर तक रूकना हो. इससे भी आपके घुटनों पर प्रेशर पड़ सकता है.

प्रॉप्स की ले सकते हैं मदद
योगा के शुरू अभ्यास में आप नी रिप्लेसमेंट के बाद किसी प्रॉप्स की मदद से एक बार फिर योगाभ्यास कर सकती हैं. जैसे जैसे आप हैबिट में आते जाएंगे और आपको खुद पर भरोसा होने लगेगा तो आप प्रॉप्स को छोड़ नार्मल योग कर सकते हैं.

एक्सपर्ट की सलाह पर ही करें अभ्यास
किसी भी योग को करने के अलग अलग तरीके होते हैं वह भी शरीर की क्षमता के अनुसार होते हैं. इसलिए आप बिना गाइडेंस के किसी भी अभ्यास को ना करें बल्कि अपने एक्सपर्ट की सलाह पर ही योगाभ्यास के अलग अलग स्टेप करें ताकि आपको उसका फायदा मिले.

ये भी पढ़ें- 

Walnuts Life: बरसात में आ जाती है अखरोट में सीलन, लंबे समय तक इन उपायों को अपनाकर रख सकते हैं फ्रेश

Cornflakes Ladoo Recipe: कभी खाए हैं कॉर्नफ्लेक्स के लड्डू? बेहद ही कम सामान से तैयार हो जाएगी ये हेल्दी रेसिपी

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source link