नितिन गडकरी ने अहमदाबाद-मुंबई हाईवे को बताया खतरनाक: कहा- वहां ट्रैफिक बाकी हाईवे के मुकाबले सबसे ज्यादा; यहीं हुई थी साइरस मिस्त्री की मौत

0
24


  • Hindi News
  • National
  • Cyrus Mistry Death; Nitin Gadkari | Union Miniter On Ahmedabad Mumbai Highway Condition

नई दिल्ली22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने रोजाना हो रहे सड़क हादसों पर चिंता जताई है। इंडिया टुडे से बात करते हुए गडकरी ने कारों में सेफ्टी फीचर्स पर बात की। इसके अलावा उन्होंने ड्राइविंग के दौरान कार में सीट बेल्ट न लगाने को भी गलत बताया। इस दौरान उन्होंने उद्योगपति साइरस मिस्त्री की सड़क हादसे में हुई मौत पर दुख जताया। गडकरी कहा कि पीछे बैठे लोगों के लिए भी सीटबेल्ट उतनी ही जरूरी है जितनी आगे बैठे लोगों के लिए।

रविवार को अहमदाबाद-मुंबई हाईवे पर साइरस मिस्त्री ने अपनी जान गंवा दी थी। गडकरी ने कहा कि जिस अहमदाबाद-मुंबई हाईवे पर ये दुर्घटना हुई, असल में वो बहुत खतरनाक है। वहां ट्रैफिक PCU 1.20 लाख है जो बाकी हाईवे के मुकाबले सबसे ज्यादा है। गडकरी के मुताबिक इसे घटाकर 20 हजार PCU तक लाना है।

गडकरी ने सुनाया 4 सीएम की कारों का किस्सा
गडकरी ने इंडिया टुडे को कारों में सीट बेल्ट को लेकर चार मुख्यमंत्रियों का किस्सा सुनाया। उन्होंने कहा- कुछ समय पहले मै चार मुख्यमंत्रियों की गाड़ियों में बैठा था। उन सभी की गाड़ियों की फ्रंट सीट पर सीट बेल्ट लगाने वाली जगह (सॉकेट) पर क्लिप लगी हुई थी। ऐसा इसलिए किया गया था ताकि चेतावनी अलार्म ना बजे। मैंने ड्राइवर को डांटा और क्लिप हटवाई।

2024 तक सड़क हादसे 50 फीसदी कम करने का लक्ष्य
इंटरव्यू के दौरान केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 2024 तक सरकार सड़क हादसों को 50 फीसदी तक कम कर देना चाहती है। इसके लिए इंटरनेशनल सिक्योरिटी स्टैंडर्ड को फॉलो किया जाएगा। गडकरी ने भारत में छह एयरबेग की जगह चार एयरबेग के होने पर कार कंपनियों पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि कार कंपनियां जब गाड़ियां दूसरे देशों में एक्सपोर्ट करती हैं तो छह एयरबैग लगाती हैं, भारत में चार लगाकर बेचती हैं क्या भारतीय लोगों की जान की कीमत नहीं है?

जब उनसे सवाल किया गया कि छह एयरबैग लगाने से कार की कीमत 50-60 हजार रुपए से ज्यादा हो सकती है। इसपर गडकरी ने कहा- यह गलत है। अगर बड़ी संख्या में प्रोडक्शन होगा तो एक एयरबैग की कीमत सिर्फ 900 रुपये के करीब पड़ेगी। गडकरी ने कहा कि भारत में भी छह एयरबेग वाली गाड़ियां मार्केट में उतारने का काम चल रहा है।

गडकरी बोले- जवानी में खुद तोड़ता था नियम
इंटरव्यू में उन्होंने अपनी जवानी का किस्सा बताया। गडकरी ने कहा कि जवानी में वह खुद नियम तोड़ते थे। तब उन्हें अहसास नहीं था कि यह कितना खतरनाक है। गडकरी ने कहा -इलेक्शन के टाइम पर वे एक स्कूटर पर चार लोग बैठकर घूमते थे और नंबर प्लेट को हाथ से छिपा लेते थे ताकि चालान न हो सके। वे तब की बातें थी, लेकिन अब लोगों को अपना माइंडसेट बदलना होगा, नियमों का पालन करना होगा।

सीट बेल्ट ना लगाने से रोज 41 मौतें
सरकार ने 1 जुलाई 2019 से कार कंपनियों को सीट बेल्ट रिमाइंडर (अलार्म) लगाना अनिवार्य कर दिया है, लेकिन यह सिर्फ अगली सीटों के लिए ही है। जबकि पीछे की सीट बेल्ट के लिए भी यह होना चाहिए। देश में साल 2020 में सड़क हादसों में 15,146 लाेगों ने सीट बेल्ट नहीं लगाने की वजह से जान गंवाई। यानी रोज 41 मौतें। साल में सड़क हादसों में डेढ़ लाख से ज्यादा मौतें होती हैं। पूरी खबर यहां पढ़ें…

खबरें और भी हैं…



Source link