निखत जरीन ने बताया रनिंग को ट्रेनिंग का अहम हिस्सा: 2008 में जिस रेस में बॉक्सर विजेंद्र सिंह ने हिस्सा लिया, उस हाफ मैराथन के रजिस्ट्रेशन शुरू; जानिए क्या है हाफ मैराथन

0
16


दिल्ली6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

ओपनिंग सेरेमनी के बाद दिल्ली में वेदांता दिल्ली हाफ मैराथन के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू हो गेए हैं। मैराथन की ओपनिंग सेरेमनी दिल्ली में 1 सितंबर को हुई। इस सेरेमनी में अलग-अलग खेल के कई दिग्गज शामिल हुए थे। ओलंपिक मेडलिस्ट निखत जरीन, विजेंद्र सिंह और अविनाश साबले इसमें शामिल हुए।

इस साल दिल्ली हाफ मैराथन को वेदांता ग्रूप ने स्पोंसर किया है। ये मैराथन रविवार 16 अक्टूबर के दिन दिल्ली में होगी।

2020 दिल्ली हाफ मैराथन के विजेता(पुरुष)।

2020 दिल्ली हाफ मैराथन के विजेता(पुरुष)।

चलिए जानते है हाफ मैराथन के बारे में

मैराथन तो हम सबने सुना था लेकिन ये हाफ मैराथन क्या है? जैसा इसके नाम से पता चलता है ये एक मैराथन का आधा होता है यानि हाफ। आमतौर पर एक मैराथन मे धावक 42 किलोमीटर का फासला तय करते है। हाफ मैराथन में ये फासला घटकर आधा यानि सिर्फ 21 किलोमीटर का रह जाता है।

भारत में हाफ मैराथन ज्यादा फैमस है। इसी कड़ी में हर साल दिल्ली में हाफ मैराथन का आयोजन किया जाता है।

2019 दिल्ली हाफ मैराथन के विजेता(महिला)।

2019 दिल्ली हाफ मैराथन के विजेता(महिला)।

दिल्ली हाफ मैराथन में कितनी कैटेगरी है?

दिल्ली हाफ मैराथन में कई कैटेगरी में आप भाग ले सकते है। हाफ मैराथन के अलावा, 10K रेस का आयोजन होता है। इसमें प्रतिभागी को 10 किलोमीटर दौड़ना होता है। इसके अलावा 5 किलोमीटर की ग्रेट दिल्ली रन, 3 किलोमीटर का सीनियर सिटीजन रन और 3 किलोमीटर का चैंपियन्स विथ डिसएबिलीटी रन का आयोजन किया जाएगा।

कोई भी इन कैटेगरी में भाग ले सकता है। इसकी रजिस्ट्रेशन 2 सितंबर से शुरू हो गई थी, जो 4 अक्टूबर तक चलेगी।

दिग्गजों ने मैराथन के बारे में बताया

  • कॉमनवेल्थ के 3000 मीटर स्टीपलचेस में सिल्वर मेडल विजेता अविनाश साबले ने दिल्ली मैराथन को भारतीय रेसर के लिए अच्छा अवसर बताया। उन्होंने कहा कि इस मैराथन में दुनियाभर से रेसर आते हैं। इस वजह से भारतीय रेसेर के पास उनके खिलाफ दौड़ने और एक महत्वपूर्ण अनुभव हासिल करने का एक मौका रहता है।
  • खेल रत्न विजेता अंजु बॉबी जॉर्ज ने इस मैराथन को महिला रेसर के लिए बहुत अच्छा अनुभव बताया। उन्होंने मैराथन के आयोजको को मैराथन आयोजित कराने के लिए और महिला रेसर को ऐसा अवसर देने के लिए धन्यवाद दिया।
  • भारतीय बॉक्सर विजेंद्र सिंह भी यहां मौजूद थे। विजेंद्र ने 2008 की इस रेस में भाग लिया था। उन्होंने अपना अनुभव साझा करते हुए कहा कि इस रेस ने दिल्ली में फिट रहने के एक नए रेव्यूलेशन को जन्म दिया है। अलग-अलग राज्यों से लोग केवल इस मैराथन में हिस्सा लेने के लिए आते हैं।
  • निखत जरीन ने पार्टीसिपेंट से बात की और बताया कि कैसे दौड़ने उनके जीवन और ट्रेनिंग का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है। निखत जरीन कहा, “स्ट्रेस और किसी भी तरह की उलझन को दूर करने के लिए में रनिंग पसंद करती हूं।”
  • टोक्यो पैरालंपिक में ब्रांज मेडल जीतने वाले शरद कुमार भी इस अवसर पर मौजूद थे। उन्होंने कहा कि रनिंग करने वाले सिर्फ पदक के लिए न दौड़े। जो भी इस मैराथन में हिस्सा ले रहा है वो खुद में ही एक विजेता है। रनिंग का मजा ले सिर्फ जीतने के लिए न दौड़े।
  • कॉमनवेल्थ 2022 में ट्रिपल जंप पदक जीतने वाले एल्डोज पॉल ने भारत मे बढ़ते स्पोर्टिंग कल्चर के बारे में बात की। एल्डोज पॉल ने कहा कि पहले भारतीय खिलाड़ी केवल ओलंपिक और वर्ल्ड चैंपियनशिप में हिस्सा लेने के लिए मेहनत करते थे। लेकिन नीरज चौपड़ा के गोल्ड ने भारतीय खिलाड़ियों के इस रवैया में बदलाव लाया है। नीरज चोपड़ा के मेडल ने हमें प्रेरित किया है। अब हमें भरोसा है कि हम दुनिया में किसी से पीछे नहीं है और किसी को भी टक्कर दे सकते हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link