नई संसद में लगेंगे रेशम के 12 हैंडमेड कालीन: कश्मीर में 50 कारीगर 8 माह से बुन रहे, 88 स्क्वायर फीट का 1 कालीन 50 लाख रु. तक का

0
24


  • Hindi News
  • National
  • Central Vista Avenue|12 Handmade Silk Carpets Will Be Installed In The New Parliament

नई दिल्ली9 मिनट पहलेलेखक: हारून रशीद

  • कॉपी लिंक

कश्मीर के बडगाम जिले के खानपुर गांव में 50 कारीगर 8 महीने से डबल शिफ्ट में काम करते हुए 12 रेशमी कालीन बना रहे हैं। ये दुनियाभर में सिल्क ऑन सिल्क (रेशम पर रेशम) कालीन के नाम से मशहूर हैं। इन्हें हाथों से बनाया जाता है। खास बात यह है कि 88 स्क्वायर फीट के ये कालीन नए संसद भवन में लगने हैं।

मुख्य बुनकर कमर ताहिरी ने बताया- डिजाइन के जरिए समृद्ध कश्मीरी विरासत को दर्शाया गया है। हममें से ज्यादातर संसद तो क्या, दिल्ली भी नहीं गए हैं। अब ये कालीन संसद में हमारा प्रतिनिधित्व करेंगे, इसलिए ये खास ही होने चाहिए। 9 कालीन बन चुके हैं। 3 अगले हफ्ते तक तैयार हो जाएंगे। 15 सितंबर को ये दिल्ली भेज दिए जाएंगे।

संसद के लिए इन कालीनों को किस कीमत पर खरीदा जा रहा है, यह सार्वजनिक नहीं किया गया है, लेकिन जिस क्वालिटी के ये हैं, उनकी कीमत 50 लाख रुपए तक रही है।

नए संसद में बिछने वाली ये कालीन की फोटो है। सेंट्रल विस्टा एवेन्यू में कुल 12 कालीन बिछने हैं। इनमें 9 कालीन बन चुके हैं। 3 अगले हफ्ते तक तैयार हो जाएंगे।

नए संसद में बिछने वाली ये कालीन की फोटो है। सेंट्रल विस्टा एवेन्यू में कुल 12 कालीन बिछने हैं। इनमें 9 कालीन बन चुके हैं। 3 अगले हफ्ते तक तैयार हो जाएंगे।

8 सितंबर को खुलेगा सेंट्रल विस्टा एवेन्यू
नई संसद सेंट्रल विस्टा एवेन्यू में बन रही है। यह प्रोजेक्ट लगभग पूरा हो चुका है। अगले हफ्ते इसके बाहरी हिस्से को आम लोगों के देखने के लिए खोला जा सकता है। विजय चौक से इंडिया गेट तक पुनर्विकसित इस सेंट्रल विस्टा एवेन्यू का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 8 सितंबर को करेंगे। हालांकि, इसका अभी आधिकारिक ऐलान नहीं किया गया है।

सेंट्रल विस्टा एवेन्यू को शहर का सबसे लोकप्रिय सार्वजनिक स्थान माना जा रहा है। इस एवेन्यू में पैदल चलने वाले रास्ते पर लाल ग्रेनाइट का इस्तेमाल किया गया है, जिसके चारों ओर हरियाली है और इसका क्षेत्रफल 1.1 लाख वर्ग मीटर है।

राजपथ पर 4,087 पेड़, 114 आधुनिक संकेतक और 900 से अधिक प्रकाश स्तंभ हैं
राजपथ पर 4,087 पेड़, 114 आधुनिक संकेतक और कई बगीचे हैं। यहां 900 से अधिक प्रकाश स्तंभ हैं। प्रकाश स्तंभ का उद्देश्य सेंट्रल विस्टा को चौबीसों घंटे पैदल चलने वालों के लिए अधिक अनुकूल बनाना है। 8 सुविधा खंड बनाए गए हैं।

देश की सत्ता का गलियारा कहे जाने वाले सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के तहत एक नए त्रिकोणीय संसद भवन, एक साझा केंद्रीय सचिवालय, 3 किमी लंबे राजपथ का पुनर्विकास, प्रधानमंत्री के नए निवास और कार्यालय और उपराष्ट्रपति के लिए नए एन्क्लेव बनाए जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link