दोस्तों की कमी से अमेरिकी पुरुष परेशान: अकेलेपन के चलते इम्यूनिटी कमजोर; बीपी, शुगर और कैंसर जैसी बीमारियों के शिकार हो रहे

0
40


वाशिंगटन3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

क्या आपको पता है, अगर आपके पास दोस्त नहीं हैं तो आप बीमार पड़ सकते हैं। बहुत बीमार। अमेरिका में हुई एक स्टडी में यह बात सामने आई है कि दोस्त न होने पर अकेलेपन की वजह से लोगों का इम्यून सिस्टम कमजोर हो रहा है। वे अल्जाइमर, अनिद्रा, हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, कैंसर के अलावा दिल की बीमारियों के मरीज बन रहे हैं। यह स्टडी AEI सर्वे सेंटर ऑन अमेरिकन लाइफ ने अमेरिकी लोगों पर किया है।

5 में से 1 अमेरिकी पुरुष के पास अच्छा दोस्त नहीं
स्टडी के अनुसार, आर्थिक मंदी से जूझ रहे अमेरिका के लोग अब दोस्तोंं की कमी से परेशान होने वाले हैं। 5 में से 1 अमेरिकी पुरुष के पास कोई बेस्ट फ्रेंड नहीं है। 1990 में जहां हर किसी के पास औसत रूप से 6 अच्छे दोस्त हुआ करते थे, वहीं 2021 आते-आते यह संख्या घटकर आधी यानी 3 रह गई है।

मनोविज्ञान के प्रोफेसर नियोब वे कहते हैं- अमेरिकी पुरुषों के अकेलेपन की वजह से समाज में हिंसा बढ़ रही है। उनके अकेले रहने की एक बड़ी वजह उनका दोस्तों से अपनी भावनाएं शेयर न कर पाना है। सर्वे के मुताबिक, जहां 48% महिलाओं ने अपने दोस्तों से अपनी भावनाएं साझा कीं, वहीं सिर्फ 30% पुरुष ऐसा कर पाए। 41% महिलाओं ने अपने दोस्तों का भावनात्मक रूप से साथ दिया, लेकिन सिर्फ 21% पुरुष ही अपने दोस्तों को भावनात्मक सपोर्ट दे पाए।

दोस्तों के प्रति प्यार जताना जरूरी
अपने दोस्तों को यह बताना भी जरूरी है कि आप उन्हें कितना प्यार करते हैं और वे आपके जीवन में कितना मायने रखते हैं। इसमें भी अमेरिकी पुरुष कहीं बहुत पीछे रह गए। सिर्फ 25% पुरुष ऐसा कर पाए, जबकि 49% महिलाओं ने अपने दोस्तों को यह बताया कि वे उनकी जिंदगी में बहुत महत्वपूर्ण हैं। मनोवैज्ञानिक कहते हैं कि अकेले रहने वाले पुरुषों में हिंसात्मक भावनाएं महिलाओं से 7 गुनी और खुदकुशी की सोच दोगुनी हावी होती है।

2020 में 10 लाख में से 20 पुरुषों ने आत्महत्या की
द नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ, 2020 के आंकड़ों की मानें तो 10 लाख में से सिर्फ 5 महिलाओं ने आत्महत्या की, जबकि इस दौरान 20 पुरुषों ने आत्महत्या कर ली। मनोवैज्ञानिक रोनाल्ट एफ लेवेंट कहते हैं- पुरुष पारंपरिक मानसिकता की वजह से अपनी भावनाएं व्यक्त नहीं कर पाते। आपके पास कितने ऐसे दोस्त हैं, जिनसे आप मन की बात कह सकते हैं, जिनसे कुछ छिपाने की जरूरत नहीं होती। ये आपको स्वस्थ रखेंगे, मन से भी और तन से भी।

खबरें और भी हैं…



Source link