दुमका में नाबालिग की हत्या मामले में CM बोले: घटनाएं तो होती रहती हैं बोलकर नहीं आतीं; 10 दिन में 2 लड़कियों की हत्या

0
18


रांची25 मिनट पहले

दुमका में एक नाबालिग की रेप के बाद हत्या मामले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रविवार को कहा कि घटनाएं बोलकर नहीं आती हैं। घटनाएं तो होती रहती हैं, इनको किस तरह से लिया जाए। सीएम ने कहा कि इस मामले में मेरी जो भी सोच थी उससे आप लोगों को पहले ही अवगत करा दिया है।

सीएम ने यह बातें अपने निवास पर पत्रकारों के सवाल पर कही। इसके पहले सीएम ने अपने फेसबुक पेज पर इस घटना के बाद लिखा था कि दुमका की घटना से वो दुखी हैं। इस मामले में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने दुमका पुलिस को न्याय सुनिश्चित करने के लिए सख्त कानूनी कदम उठाने का निर्देश दिया है।

नाबालिग आदिवासी से रेप, प्रेग्नेंट हुई तो मार डाला:दुमका में फिर वारदात, मर्डर सुसाइड लगे इसलिए पेड़ से लटकाया

इसके पहले दी थी नसीहत
दुमका में रेप और हत्या के मामले में सीएम हेमंत सोरेन ने ट्वीट करके कहा था-एक भाई, बेटा और पिता होने के नाते मेरा मानना है कि सभ्य समाज में किसी भी प्रकार के अपराध को स्वीकार नहीं किया जा सकता। देश और समाज तभी मजबूत होगा जब लोगों के बीच जाति, नस्ल और रंग का भेद भुलाकर उनके बीच सामाजिक भाईचारे को सर्वोच्च स्थान दिया जाए।

आज के परिवेश में यह और भी महत्वपूर्ण हो गया है कि हम सभी मिलकर देश को जाति और धर्म के नाम पर बांटने वाले लोगों के मंसूबों पर पानी फेरें और राष्ट्र निर्माताओं के मजबूत राष्ट्र के सपनों को साकार करें।

बीजेपी का पलटवार

दुमका मामले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के बयान पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने तंज कसा है। उन्होंने कहा कि झारखंड की महिलाओं के साथ बलात्कार हुआ है। बहनों के साथ लव जिहाद हो रहा है। उसके बाद बलात्कार करने के बाद हत्या की जा रही हैं और मुख्यमंत्री जी की प्रतिक्रिया…. ऐसी घटनाएं तो होती रहती हैं।ऐसी संवेदनहीनता का परिचय झारखंड को शर्मसार करने वाला वक्तव्य है।

यह है मामला
झारखंड के दुमका में एक नाबालिग की शनिवार को हत्या कर दी गई थी। आरोपी काफी समय से लड़की का रेप कर रहा था। जब वह प्रेग्नेंट हुई तो गला दबाकर मार डाला। हत्या सुसाइड लगे इसलिए शव को पेड़ से टांग दिया था। लड़की आदिवासी थी। आरोपी अरमान अंसारी है। लड़की से रेप और हत्या मामले में बीजेपी राज्य सरकार को घेर रही है।

10 दिन में दो हत्याएं
इसके पहले दुमका में ही 23 अगस्त को 12वीं की छात्रा पर पेट्रोल छिड़ककर शाहरुख हुसैन ने आग लगा दी थी। रांची में इलाज के दौरान 28 अगस्त को उसकी मौत हो गई थी। 10 दिन में दुमका में दो नाबालिग लड़कियों की नृशंस हत्या से अल्पसंख्यक समुदाय के आरोपी हैं। इसकी वजह से बीजेपी हेमंत सरकार के खिलाफ हमलावर है।

दुमका केस से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें:

पेट्रोल से जलाई गई अंकिता की मौत के बाद तनाव:आरोपी शाहरुख को फांसी देने की मांग, दुमका में बाजार बंद, सड़कें जाम, 144 लागू

अंकिता हत्याकांड में झारखंड हाईकोर्ट ने DGP को किया तलब:परिवार को सुरक्षा देने के आदेश; 3 दिन बाद दर्ज हुआ हत्या का केस

‘शाहरुख ने पेट्रोल छिड़ककर मुझे जला डाला’:क्या होता है मौत से पहले का बयान, जो अंकिता के दोषी को फांसी तक पहुंचा सकता है



Source link