डायबिटीज के मरीज शहद लें या गुड़, जानें यहां

0
17


Honey Or Jaggery: मधुमेह एक ऐसी स्वास्थ्य समस्या है, जिसमें व्यक्ति को कई तरह की रोक-टोक  का सामना करना पड़ता है. मधुमेह रोगी को लो ग्लाइसिमेक इंडेक्स फूड का सेवन करना चाहिए और मीठे से पूरी तरह से परहेज करना चाहिए नहीं तो उनकी बॉडी का शुगर लेवल बढ़ते देर नहीं लगती है.

 

इसी समस्या से छुटकारा पाने के लिए लोग बहुत सी नई चीजें ट्राई करते हैं जिसमें शुगर लेवल कम होता हैं. गुड़ या शहद हेल्दी शुगर सब्सिट्यूट माने जाते हैं, लेकिन डायबिटीज के  रोगियों के लिए कौन अधिक लाभकारी है, इस बात पर गौर करना आवश्यक है.  

 

गुड़ के फायदे

 

गुड़ का उपयोग कई ट्रेडिशनल भारतीय मिठाइयों को बनाने में किया जाता है और मधुमेह रोगी भी सफेद चीनी की तुलना में गुड़ का अधिक सेवन करने पर जोर देते हैं. गुड़ पोटेशियम, मैग्नीशियम और विटामिन बी1, बी6, और सी प्लस से भरपूर होता है. साथ ही इसकी भी पर्याप्त मात्रा होती है. यह आपके पाचन तंत्र को साफ करने में मदद करता है. गुड़ में कई फेनोलिक एसिड भी होते हैं जो ऑक्सीडेटिव तनाव से लड़ते हैं और शरीर को  बीमारियों से लड़ने में मदद करत़े हैं.  

 

शहद के फायदे

 

शहद आपके ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मददकर सकता है. शहद एंटीऑक्सीडेंट का भी एक अच्छा स्रोत है, जो शरीर में एंटी-इन्फ्लेमेट्री प्रॉपर्टीज के लिए जाना जाता है. यही एंटी-इन्फ्लमेट्री प्रॉपर्टीज मधुमेह की परेशानियों को कम करने में मददगार साबित हो सकती है. 

 

किसका करें सेवन

 

शहद और गुड़ दोनों ही ब्लड शुगर के स्तर को बढ़ाते हैं, लेकिन शहद का सेवन करना बेहतर है क्योंकि इनमें पोषक तत्व होते हैं. गुड़ मैग्नीशियम, कॉपर और आयरन से भरपूर होता है जबकि शहद विटामिन बी, विटामिन सी और पोटैशियम से भरपूर होता है, जो गुड़ से ज्यादा फायदेमंद होता है. शहद का सेवन करना गुड़ से अधिक लाभकारी है. 

 

ये भी पढ़ें – 



Source link