जेमिमा ICC प्लेयर ऑफ द मंथ की सूची में: कॉमनवेल्थ गेम्स के फाइनल में खेलने वाली तीन खिलाड़ी ICC प्लेयर ऑफ द मंथ बनने की दौड़ में

0
20


एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

सोमवार 5 सितंबर को ICC ने महिला प्लेयर ऑफ द मंथ सूची जारी की है। सूची में भारत की जेमिमा रोड्रिगेज, ऑस्ट्रेलिया की बेथ मूनी और ताहिला मैकग्रा का नाम शामिल है। अगस्त महीने में महिला क्रिकेट में बहुत शानदार पारियां खेली गई। इन पारियों के आधार पर ही इन तीन खिलाड़ियों के नाम की घोषणा की गई है। ICC विजेता की घोषणा 12 सितंबर को करेगी।

कॉमनवेल्थ फाइनल में खेलने वाली 3 खिलाड़ी हुई नॉमिनेट।

कॉमनवेल्थ फाइनल में खेलने वाली 3 खिलाड़ी हुई नॉमिनेट।

कॉमनवेल्थ में तीनों खिलाड़ियों ने किया कमाल प्रदर्शन

कॉमनवेल्थ गेम्स में क्रिकेट की शुरुआत 29 जुलाई को ऑस्ट्रेलिया और इंडिया के मैच से हुई। 7 अगस्त को इन्हीं दो टीमों के बीच फाइनल भी हुआ। शायद, इस वजह प्लेयर ऑफ द मंथ की सूची में इन दो टीम की खिलाड़ियों का नाम है।

भारतीय खिलाड़ी जेमिमा ने अगस्त में खेले गए कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत के लिए 72 की औसत से कुल 146 रन बनाए। इसमें बार्बाडोस के खिलाफ 56 रन की नाबाद पारी भी शामिल है। इस मैच में उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब भी मिला था। जेमिमा ने कॉमनवेल्थ गेम्स के फाइनल में 33 रन की पारी भी खेली थी लेकिन ये पारी टीम को गोल्ड मेडल दिलाने में असफल साबित हुई थी। जेमिमा कॉमनवेल्थ गेम्स में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बैटर की सूची में 5वें स्थान पर थी। स्मृति मंधाना इस सूची में 159 रन के साथ तीसरे नंबर पर थी।

जेमिमा ने कॉमनवेल्थ गेम्स के फाइनल में 33 रन की पारी खेली थी।

जेमिमा ने कॉमनवेल्थ गेम्स के फाइनल में 33 रन की पारी खेली थी।

कॉमनवेल्थ फाइनल में मूनी ने 61 रन पारी खेली

दूसरी ओर बेथ मूनी और ताहिला मैकग्रा ऑस्ट्रेलिया की कॉमनवेल्थ गेम्स में फाइनल खेलने वाली टीम का हिस्सा थी। बेथ मूनी ने फाइनल में 41 बॉल पर 61 रनों की पारी खेली। इस पारी के लिए उन्हें फाइनल में प्लेयर ऑफ द मैच का अवार्ड भी मिला था। साथ ही मूनी कॉमनवेल्थ गेम्स में 44 की औसत से सबसे ज्यादा 179 रन बनाने वाली बैटर थी। कॉमनवेल्थ में 70 रन उनका निजी बेस्ट था। इस पारी की बदौलत ऑस्ट्रेलिया फाइनल में 161 रन बना पाई थी।

भारत के खिलाफ फाइनल में 61 रन की पारी खेली थी।

भारत के खिलाफ फाइनल में 61 रन की पारी खेली थी।

ऑलराउंडर ताहिला मैकग्रा ऑस्ट्रेलिया के लिए यूटिलिटी प्लेयर साबित हुई हैं। ये कहना गलत नहीं होगा कि ताहिला मैकग्रा की ऑलराउंड परफॉर्मेंस की बदौलत ऑस्ट्रेलिया कॉमनवेल्थ गोल्ड मेडलिस्ट बनी थी। ताहिला ने कॉमनवेल्थ के पांच मैचों में 42 की औसत से 128 रन बनाए थे। साथ ही 8 विकेट अपने नाम किए थे। वो कॉमनवेल्थ में विकेट लेने के मामले दूसरे स्थान पर थी।

कॉमनवेल्थ में 128 रन के साथ लिए थे 8 विकेट।

कॉमनवेल्थ में 128 रन के साथ लिए थे 8 विकेट।

कॉमनवेल्थ फाइनल में जीता था ऑस्ट्रेलिया

7 अगस्त को कॉमनवेल्थ मैच का फाइनल खेला गया था। इसमें मूनी के 61 रन की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने गोल्ड मेडल अपने नाम किया था। कप्तान हरमनप्रीत कौर की 65 रनों की पारी के बावजूद भारत ये मैच 9 रन से हार गया था। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत को 162 रन का टारगेट दिया था। भारत की ओर से रेणुका सिंह और स्नेह राणा ने 2-2 विकेट अपने नाम किए थे।

भारत के ओपनिंग बल्लेबाज केवल 11 और 6 के निजी स्कोर पर आउट हो गए थे। जिसके बाद कप्तान हरमनप्रीत कौर के साथ मिलकर जेमिमा ने भारतीय पारी को संभाला था। दोनों के आउट होने के बाद भारतीय पारी कॉलेप्स हो गई और भारत को ये मैच 9 रन से गंवाना पड़ा था और सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा था।

कॉमनवेल्थ फाइनल में 9 रन से हार गई थी भारतीय टीम

कॉमनवेल्थ फाइनल में 9 रन से हार गई थी भारतीय टीम

भारतीय महिला टीम का अगला दौरा इंग्लैंड के खिलाफ 10 अगस्त से शुरू होगा। भारतीय टीम इंग्लैंड में 3 टी20 और 3 वनडे मैच खेलेगी। कॉमनवेल्थ की हार के बाद ये भारतीय टीम का पहला दौरा होगा।

खबरें और भी हैं…



Source link