जिनपिंग को पाकिस्तान में रहने वाले अपने नागरिकों की चिंता: PAK पीएम शाहबाज से बोले- हमारे लोगों को सुरक्षा दें; 14 महीने में 14 लोगों की मौत

0
11


बीजिंगएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ ने चीन यात्रा के दूसरे दिन राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात की। इस दौरान शी जिनपिंग ने पाकिस्तान में रहने वाले अपने नागरिकों की सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की।

बीजिंग के ग्रेट हॉल ऑफ द पीपुल में प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ से मुलाकात के दौरान जिनपिंग ने कहा- मैं पाकिस्तान में चाइना-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर (CPEC) की परियोजनाओं पर काम कर रहे चीनी नागरिकों की सुरक्षा को लेकर बहुत चिंतित हूं और उम्मीद करता हूं कि पाकिस्तान चीनी लोगों को सुरक्षित माहौल देगा।

कराची में हुई थी चीन के डॉक्टर की हत्या

  • पाकिस्तान के कराची में एक महीने पहले चीन के एक डॉक्टर की उसके क्लीनिक में घुसकर हत्या कर दी गई। हमले में डॉक्टर की पत्नी और दूसरा चीनी नागरिक गंभीर रूप से घायल हुए थे।
  • पिछले साल जुलाई में चीन-पाकिस्तान के ज्वॉइंट दासू डैम प्रोजेक्ट पर काम कर रहे चीन के इंजीनियर्स की एक बस को बलूचिस्तान में बम से उड़ा दिया गया था। इसमें 9 चीनी इंजीनियर मारे गए थे। पाकिस्तान ने इसे हादसा बताया था। बाद में जब चीन ने जांच की तो यह आतंकी हमले का मामला निकला।
  • इसके बाद इसी साल अप्रैल में एक महिला फिदायीन हमलावर ने कराची की एक यूनिवर्सिटी में खुद को उड़ा लिया। घटना में चीन की तीन महिला और एक पुरुष प्रोफेसर्स मारे गए। 14 महीने में पाकिस्तान में अब तक 14 चीनी नागरिकों को कत्ल किया जा चुका है।

प्रधानमंत्री बनने के बाद दूसरी बार जिनपिंग से मिले शाहबाज

PM शाहबाज शरीफ 1 नवंबर को बीजिंग पहुंचे थे। शाहबाज की ये विजिट जिनपिंग के तीसरी बार राष्ट्रपति चुने जाने के बाद किसी भी राष्ट्र प्रमुख की पहली विजिट है।

PM शाहबाज शरीफ 1 नवंबर को बीजिंग पहुंचे थे। शाहबाज की ये विजिट जिनपिंग के तीसरी बार राष्ट्रपति चुने जाने के बाद किसी भी राष्ट्र प्रमुख की पहली विजिट है।

मुलाकात के दौरान दोनों नेताओं ने पाकिस्तान और चीन के रिश्ते मजबूत करने पर बातचीत की। शरीफ की यह यात्रा अप्रैल में प्रधानमंत्री पद संभालने के बाद से पहली चीन यात्रा है। हालांकि, प्रधानमंत्री बनने के बाद शी के साथ उनकी यह दूसरी मुलाकात है। उन्होंने पिछले महीने उज्बेकिस्तान के समरकंद में शंघाई सहयोग संगठन (SCO) से इतर शी से मुलाकात की थी।

CPEC को आगे बढ़ाने पर सहमति

  • शाहबाज शरीफ और शी जिनपिंग ने कराची से पेशावर के बीच रेल मार्ग की 10 अरब डॉलर लागत वाली परियोजना (ML-1 प्रोजेक्ट) पर आगे बढ़ने का फैसला किया है। ये प्रोजेक्ट चाइना-पाकिस्तान इकोनॉमिक कॉरिडोर (CPEC) का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। इसे CPEC की बैकबोन भी कहा जाता है। इसमें पाकिस्तान के ग्वादर से चीन के काशगर तक 50 बिलियन डॉलर (करीब 3 लाख करोड़ रुपए) की लागत से आर्थिक गलियारा बनाया जा रहा है। इसके जरिए चीन की अरब सागर तक पहुंच हो जाएगी। CPEC के तहत चीन सड़क, बंदरगाह, रेलवे और ऊर्जा प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहा है।
  • चीन पाकिस्तान को 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हाई स्पीड रेलवे ट्रेन के लिए टेक्नोलॉजी का भी एक्सपोर्ट करेगा। शी ने कहा- चीन ने हमेशा चीन-पाकिस्तान संबंधों को रणनीतिक ऊंचाई से देखा है। हमने हमेशा अपनी डिप्लोमेसी में पाकिस्तान को प्राथमिकता दी है।
  • राष्ट्रपति जिनपिंग का कहना है कि चीन पाकिस्तान के साथ डिजिटल इकोनॉमी, ई कॉमर्स, फोटो वोल्टाइक टेक्नोलॉजी और ऊर्जा से जुड़े नये क्षेत्रों में काम करना चाहता है।

पाकिस्तान का चीन प्रेम
हाल ही में चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स के एक ओपिनियन आर्टिकल में शाहबाज शरीफ ने लिखा- पाकिस्तान चीन के लिए मैन्युफैक्चरिंग बेस और उसके इंडस्ट्रियल और सप्लाई चेन नेटवर्क के विस्तार के रूप में काम कर सकता है। दोनों देश कॉर्पोरेट फार्मिंग, हाईब्रिड सीड और उच्च उपज वाली फसलों के विकास और कोल्ड स्टोरेज चेन स्थापित करने के लिए द्विपक्षीय सहयोग को तेज कर सकते हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link