जहरीली बनी हुई है दिल्ली की हवा: हर 5 में से 4 परिवार बीमार हो रहे, अस्थमा और सांस के मरीज बढ़े

0
7


  • Hindi News
  • National
  • Delhi Air Pollution: 4 Out Of Every 5 Families Are Falling Ill, Asthma And Respiratory Patients Are On The Rise

नई दिल्ली36 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

दिल्ली-एनसीआर की हवा बीते कुछ दिनों से जहरीली बनी हुई है। शनिवार को दिल्ली में AQI 403 दर्ज किया गया, जो बेहद खतरनाक माना जाता है। AQI हवा की क्वालिटी मापने का पैमाना है। एक सर्वे के मुताबिक प्रदूषण के चलते हर 5 में से 4 परिवार बीमार हो रहे हैं। अस्थमा, सांस लेने में तकलीफ और ब्लड प्रेशर के मरीज बढ़ते जा रहे हैं। शनिवार को भी दिल्ली के 19 स्टेशनों पर हवा का स्तर गंभीर रहा। मौसम विभाग के अनुसार दिल्ली के 14 स्टेशनों पर हवा का स्तर सुधरा है। बढ़ते पॉल्यूशन के चलते दिल्ली सरकार ने 5वीं तक के सभी स्कूल बंद कर दिए हैं। सरकारी और निजी दफ्तरों में 50% कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम के लिए कहा गया है। दिल्ली में कमर्शियल निर्माण कार्य रोक दिए गए हैं। डीजल कारों और ट्रकों पर पाबंदी लगा दी गई है। इसके साथ ही बाजार और दफ्तरों के समय में भी बदलाव की तैयारी है। हालांकि, EV और CNG वाहन चलते रहेंगे। दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल और पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने इन अहम फैसलों की घोषणा की। वहीं, परिवहन मंत्री की सभी नागरिकों से अपील प्रदूषण से लड़ने में हमारा साथ दें। इसके अलावा प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट में 10 नवंबर को सुनवाई होगी।

दिल्ली में एयर पॉल्यूशन की 5 तस्वीरें..

सरकार ने जरूरी सेवाएं प्रदान करने वाले डीजल वाहनों को छूट दी है।

सरकार ने जरूरी सेवाएं प्रदान करने वाले डीजल वाहनों को छूट दी है।

प्रदूषण से राहत के लिए सराय काले खां इलाके में पानी का छिड़काव किया गया।

प्रदूषण से राहत के लिए सराय काले खां इलाके में पानी का छिड़काव किया गया।

दिल्ली सरकार जल्द ऑड-इवन फार्मूला लागू कर सकती है।

दिल्ली सरकार जल्द ऑड-इवन फार्मूला लागू कर सकती है।

विजिबिलिटी कम होने से सिग्नेचर ब्रिज पर सुबह वाहन चालकों को काफी मुश्किल हुई।

विजिबिलिटी कम होने से सिग्नेचर ब्रिज पर सुबह वाहन चालकों को काफी मुश्किल हुई।

आनंद विहार में सुबह घना कोहरा छाया रहा।

आनंद विहार में सुबह घना कोहरा छाया रहा।

पर्यावरण विशेषज्ञ सचिन पवार ने बताया कि रविवार के बाद दिल्ली में हवा के दिशा में और भी बदलाव होगा। हवा कुछ तेज चलेगी। नार्थ ईष्ट और साउथ वेस्ट से चलने वाली हवा के क्रॉस वेंटिलेशन का लगभग 60% असर होगा। इसका प्रदूषण पर मामूली प्रभाव पड़ेगा। गंभीर श्रेणी से हवा का स्तर बेहद खराब, खराब स्तर पर आएगी।

12-15 नवंबर से दिल्ली में थर्मल इनवर्जन का प्रभाव शुरू हो जाएगा, जिस कारण फिर से दिल्ली में प्रदूषण का स्तर बेहद गंभीर स्थिति में पहुंच जाएगा। उन्होंने बताया कि पंजाब में 3500 से अधिक पराली जलने की घटना सामने आई है। पवार ने भास्कर को बताया कि दिल्ली के प्रदूषण के लिए 35% से अधिक पंजाब में पराली जलाने की घटनाएं और दिल्ली के निर्माण कार्य जिम्मेदार हैं। इस प्रदूषण में वाहनों से निकलने वाले धुएं की भूमिका मामूली है।

ऑड-ईवन फॉर्मूले से घट सकता है प्रदूषण
एक स्टडी के मुताबिक स्कूल बंद करने और ऑड-ईवन फॉर्मूले लागू करने से 15% तक प्रदूषण घट सकता है, लेकिन इतना काफी नहीं होगा। पर्यावरणविदों का कहना है कि लंबी अवधि के लिए प्रदूषण पर नियंत्रण करने के लिए लंदन, बीजिंग और मैक्सिको सिटी जैसे शहरों से सबक लिया जा सकता है। UN ने मैक्सिको को पृथ्वी का सबसे दूषित शहर घोषित कर दिया था। साल 1989 में यह कारों पर पाबंदी लगाने वाला पहला देश बना और नंबर प्लेट के आधार पर कारों की मंजूरी से सड़कों पर 20% वाहन घटाए।

दिल्ली पॉल्यूशन से जुड़ी अन्य खबरें…

दिल्ली में हवा दमघोंटू, ट्रकों की एंट्री बैन; SC में होगी सुनवाई

दिल्ली में सांस लेना मुश्किल हो गया है। शुक्रवार सुबह एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 472 तक पहुंच गया। पूरी दिल्ली में घना कोहरा छाया हुआ है। AQI हवा की क्वालिटी मापने का पैमाना है, 450 से ऊपर होने पर इसे बेहद गंभीर माना जाता है यानी फेफड़ों के लिए खतरनाक। बढ़ते प्रदूषण के कारण नोएडा प्रशासन ने शुक्रवार से 8वीं तक के बच्चों की क्लासेस ऑनलाइन लेने का फैसला किया है। वहीं, दिल्ली में शनिवार से प्राइमरी स्कूल बंद रहेंगे। केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका ऐलान किया। पढ़ें पूरी खबर…

खबरें और भी हैं…



Source link