जवाहिरी के शव का DNA नहीं कराएगा: व्हाइट हाउस ने कहा- इसकी जरूरत नहीं, कई सोर्स उसके मारे जाने की पुष्टि कर चुके हैं

0
16
Advertisement


वॉशिंगटन21 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

लादेन के साथ जवाहिरी (दाएं)।

अमेरिका ने कहा है कि अल-कायदा के मारे गए सरगना अयमान अल जवाहिरी के शव का DNA टेस्ट नहीं कराया जाएगा। व्हाइट हाउस के मुताबिक- ऐसे कई सोर्स और सबूत हैं, जो जवाहिरी के मारे जाने की पुष्टि करते हैं। इसलिए अमेरिका नहीं समझता कि जवाहिरी की मौत को लेकर किसी को कोई शक होना चाहिए।

हमला अफगानिस्तान के समयानुसार, रविवार सुबह 6 बजकर 18 मिनट पर किया गया। उधर, अमेरिका में शनिवार की रात के 9 बजकर 48 मिनट का समय था। अमेरिकी अफसर ने बताया कि अमेरिकी एजेंसियां काबुल में उसका पिछले 6 महीने से लगातार पीछा कर रही थीं। जवाहिरी पर हेलफायर मिसाइल दागी गई। वो अमेरिका में 9/11 हमलों का गुनहगार था।

अब किसी सबूत की जरूरत नहीं

  • 2011 में ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद जवाहिरी ही अल-कायदा की कमान संभाल रहा था। रविवार को उसे काबुल में ड्रोन से दागी गई मिसाइल से मार गिराया गया।
  • अब तक DNA टेस्ट के जरिए उसके मारे जाने की पुष्टि नहीं हो सकी है। व्हाइट हाउस ने भी यह बात कन्फर्म की है। खास बात यह है कि अफगानिस्तान की तालिबान हुकूमत ने अब तक जवाहिरी के मारे जाने की पुष्टि नहीं की है। दूसरी तरफ, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने खुद उसके मारे जाने की खबर दुनिया को दी।
  • व्हाइट हाउस के प्रवक्ता जॉन किर्बी से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा- हम किसी कन्फर्मेशन की जरूरत नहीं है। हमारे कई स्रोत उसके मारे जाने की पुष्टि कर चुके हैं। हमारी एजेंसियों ने कई मेथड्स इस्तेमाल किए। इसलिए DNA की जरूरत नहीं है। अब अफगानिस्तान में अल-कायदा का कोई और सरगना नहीं बचा।

एक साल से काबुल में था जवाहिरी
न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, यह ड्रोन स्ट्राइक अमेरिकी खुफिया एजेंसी CIA की स्पेशल टीम ने की। जवाहिरी अगस्त 2021 में अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार आने के बाद से ही काबुल में रह रहा था। वहीं अमेरिकी एक्शन पर तालिबान भड़क गया है और इसे दोहा समझौते का उल्लंघन बताया है। जवाहिरी की मौत पर दुनिया खामोश है। अमेरिका के ऐलान के बाद किसी देश ने दो दिन गुजर जाने के बाद कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। इनमें भारत भी शामिल है।

बाइडेन ने खुद किया ऐलान
अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अल जवाहिरी के मारे जाने के बाद राष्ट्र को संबोधित किया। उन्होंने कहा- हमने जवाहिरी को ढूंढकर मार दिया है। अमेरिका और यहां के लोगों के लिए जो भी खतरा बनेगा, हम उसे नहीं छोड़ेंगे। हम आतंक पर अफगानिस्तान में अटैक जारी रखेंगे।

बाइडेन ने पहले ट्वीट भी किया था। इसमें कहा- शनिवार को मेरे निर्देश पर अमेरिका ने अफगानिस्‍तान के काबुल में हवाई हमला किया, जिसमें अल कायदा का अमीर अयमान अल जवाहिरी मारा गया। इंसाफ हो गया।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement