चीनी एस्ट्रोनॉट्स ने अंतरिक्ष में उगाया धान, VIDEO: 30 सेंटीमीटर लंबे हुए चावल के पौधे, इन्हें रिसर्च के लिए पृथ्वी पर भी लाया जाएगा

0
56


3 मिनट पहले

अंतरिक्ष और दूसरे ग्रहों पर जीवन ढूंढ रहे वैज्ञानिक वहां कई तरह के एक्सपेरिमेंट कर रहे हैं। इसी दिशा में चीनी अंतरिक्ष यात्रियों को एक बड़ी कामयाबी मिली है। उन्होंने स्पेस में धान उगाया है। चीनी एस्ट्रोनॉट्स ने चावल के दानों से यह पौधा उगाया है।

इसके साथ ही उन्होंने थेल क्रेस नाम का एक पौधा भी उगाने में सफलता हासिल की है, जो पत्तागोभी और ब्रसल्स स्प्राउट जैसी हरी सब्जियों को रिप्रेजेंट करता है।

तेजी से बढ़े पौधे
चाइनीज एकेडमी ऑफ साइंस (CAS) ने टीवी चैनल CGTN को बताया कि एक महीने में थेल क्रेस के पौधे में कुछ पत्तियां आ गई हैं। जबकि लंबे तने वाले चावल के पौधे 30 सेंटीमीटर और छोटे तने वाले चावल के पौधे 5 सेंटीमीटर तक लंबे हो गए हैं।

इसके अलावा चीनी एस्ट्रोनॉट्स ने कई और तरह की सब्जियां उगाने की भी कोशिश की है। वैज्ञानिकों का कहना है कि चीन के तिआनगोंग स्पेस स्टेशन में बनी जीरो-ग्रैविटी लैब में चल रहे ये एक्सपेरिमेंट काफी सफल रहे हैं।

थेल क्रेस के पौधे में कुछ पत्तियां आ गई हैं। अब इस पौधे को और बड़ा करने की कोशिश की जा रही है।

क्या है प्रयोग का लक्ष्य?
प्लांट कल्टिवेशन एक्सपेरिमेंट के जरिए स्पेस स्टेशन में मौजूद शेनझोउ-14 क्रू अंतरिक्ष में चावल के पौधे की पूरी लाइफ साइकिल (जीवन चक्र) स्टडी करना चाहता है। वैज्ञानिक देखना चाहते हैं कि कैसे पौधों की गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए अंतरिक्ष के वातावरण की मदद ली जा सकती है।

दिसंबर तक पौधे धरती पर आएंगे
CAS के वैज्ञानिकों का कहना है कि स्पेस में उगाए गए पौधे साल के आखिर यानी दिसंबर तक पृथ्वी पर लाए जाएंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि इन्हें पूरी तरह बढ़ने में अभी और वक्त लगेगा। इनकी तुलना धरती पर उगाए गए चावल के पौधों से की जाएगी। इन पौधों पर और क्या रिसर्च होगी, फिलहाल इसकी विस्तार से जानकारी नहीं दी गई है।

चीन के तिआनगोंग स्पेस स्टेशन में बनी जीरो-ग्रैविटी लैब में यह एक्सपेरिमेंट चल रहा है।

चीन के तिआनगोंग स्पेस स्टेशन में बनी जीरो-ग्रैविटी लैब में यह एक्सपेरिमेंट चल रहा है।

पहले भी हुआ स्पेस में पौधों पर एक्सपेरिमेंट
यह पहली बार नहीं है जब चीन ने अंतरिक्ष में पौधों के बीज के साथ कोई एक्सपेरिमेंट किया है। पिछले साल जुलाई में चीनी वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष से लौटे बीजों से उगाए चावल के पहले बैच की कटाई की थी। उन्होंने चांग’ए-5 मिशन के साथ 40 ग्राम चावल के दाने अंतरिक्ष में भेजे थे, जिसके बाद धरती पर इनकी खेती की गई थी।



Source link