केएल राहुल टीम इंडिया के लिए बन रहे परेशानी: 2022 में 90 की स्ट्राइक रेट से बना रहे रन, क्या कोहली-रोहित की बनेगी नई ओपनिंग जोड़ी

0
41


स्पोर्ट्स डेस्क36 मिनट पहले

युवराज सिंह का एक एड 2012 में खूब वायरल हुआ था, ‘जब तक बल्ला चल रहा है तब तक ठाठ है, उसके बाद तो आपके चाहने वाले भी आपकी आलोचना करने लगते हैं।’ कुछ ऐसा ही हाल टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज केएल राहुल का है। कुछ समय पहले तक राहुल को रोहित शर्मा का उत्तराधिकारी माना जा रहा था। अब आलम ये है कि उन्हें टीम से बाहर निकालने की मांग की जा रही है। चोट के बाद वापसी करने वाला कर्नाटक का यह बल्लेबाज एशिया कप में अभी तक खेले मैचों में पूरी तरह फ्लॉप रहा है। पाकिस्तान के खिलाफ पहले मैच में तो खाता भी नहीं खूला। वहीं, हांगकांग जैसी कमजोर टीम के खिलाफ तो केएल इतना स्ट्रगल कर रहे थे कि मानो 80 के दशक की वेस्टइंडीज टीम हो और उनकी फास्ट बॉलर्स की आर्मी।

टी-20 मैच में 39 गेंद खेलकर 36 रन बनाने का क्या मतलब है, ये अभी तक भारतीय फैंस के समझ के परे है। भास्कर ने उनकी इस बल्लेबाजी की रणनीति जाननी चाही और सोचा BCCI के ऑफिशियल से बात करते हैं। आइए पहले ये बताते हैं उन्होंने क्या कहा…

विराट कोहली ने हांगकांग के खिलाफ 6 महीने बाद अर्धशतक लगाया। BCCI उनके इस प्रदर्शन से खुश है।

कोहली के फॉर्म से खुशी हुई, राहुल को टीम मैनेजमेंट ज्यादा मौका नहीं देगी
भास्कर रिपोर्टर ने BCCI के सूत्रों से बात की और उनसे पूछा कि भारतीय टीम के टॉप-3 को लेकर बोर्ड क्या सोच रहा है? इसपर बोर्ड के अधिकारी का जवाब था, ‘हम हांगकांग के खिलाफ कोहली की बल्लेबाजी को देख बहुत खुश हैं। उनकी फॉर्म में वापसी से टीम को बहुत फायदा होने वाला है। वहीं, रोहित और राहुल का फॉर्म हमारे लिए अभी भी चिंता का विषय है। इस पर टीम मैनेजमेंट में मंथन चल रहा है।’

केएल राहुल पाकिस्तान के खिलाफ एशिया कप के मैच में खाता भी नहीं खोल पाए थे।

केएल राहुल पाकिस्तान के खिलाफ एशिया कप के मैच में खाता भी नहीं खोल पाए थे।

केएल नहीं तो कौन होगा सलामी बल्लेबाज
एशिया कप के बाद टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के खिलाफ टी-20 सीरीज खेलना है। वहीं, इसके बाद टी-20 वर्ल्ड कप भी होना है। ऐसे में सलामी बल्लेबाजों की परेशानी जल्दी दूर करनी होगी। केएल राहुल का स्ट्राइक रेट 2021 में 130 और 2022 में 90 का रहा है। वहीं, IPL में भी राहुल 135 के स्ट्राइक रेट से रन बनाते हैं। जबकि भारत को टॉप-3 में ऐसे बल्लेबाज चाहिए जो कम बॉल खेलकर ज्यादा रन बनाए। मतलब विस्फोटक बल्लेबाजी।

सूर्यकुमार यादव नंबर-3 और विराट कोहली सलामी बल्लेबाजी करते नजर आ सकते हैं।

सूर्यकुमार यादव नंबर-3 और विराट कोहली सलामी बल्लेबाजी करते नजर आ सकते हैं।

रोहित शर्मा ने पिछले कुछ मैच में भले ही बड़ा स्कोर नहीं बना पाए हो, लेकिन वो मैदान पर आते ही बड़े-बड़े शॉट लगाने लगते हैं। हांगकांग के खिलाफ रोहित ने 21 रन बनाए, लेकिन इसके लिए उन्होंने सिर्फ 13 बॉल का सामना किया। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि आने वाले मैच में रोहित के साथ विराट सलामी बल्लेबाजी कर सकते हैं। विराट एंकर का रोल निभा सकते हैं और रोहित बड़े-बड़े शॉट खेलना जारी रख सकते हैं। पिछले मैच में कोहली की फॉर्म में वापसी हुई है, ऐसे में उनका भी नया रूप देखने को मिल सकता है। वहीं, सूर्यकुमार यादव जो इस साल 177.52 के स्ट्राइक रेट से रन बना रहे हैं। बदलाव की स्थिति में उन्हें नंबर-3 पर आजमाया जा सकता है।

इससे टीम को ऋषभ पंत जैसे धाकड़ बल्लेबाज को भी खिलाने का मौका मिल जाएगा। जो अकेले अपने दम पर किसी भी मैच का पासा बदल सकते हैं। दीपक हुड्डा भी एक विकल्प हो सकते हैं जो बल्लेबाजी के साथ-साथ गेंदबाजी में भी कमाल कर सकते हैं।

ऋषभ पंत को एशिया कप में पाकिस्तान के खिलाफ मौका नहीं मिला था। हार्दिक पंड्या को आराम देकर उन्हें हांगकांग के खिलाफ मैच में उतारा गया था।

ऋषभ पंत को एशिया कप में पाकिस्तान के खिलाफ मौका नहीं मिला था। हार्दिक पंड्या को आराम देकर उन्हें हांगकांग के खिलाफ मैच में उतारा गया था।

अगर केएल राहुल ड्रॉप होते हैं तो टीम इंडिया की प्लेइंग-11 ऐसी हो सकती है…
1. रोहित शर्मा
2. विराट कोहली
3. सूर्यकुमार यादव
4. ऋषभ पंत
5. हार्दिक पंड्या
6. दिनेश कार्तिक
7. रवींद्र जडेजा
8. भुवनेश्वर कुमार
9.अर्शदीप सिंह
10.आवेश खान
11.युजवेंद्र चहल



Source link