काली पोस्टर विवाद पर सुनवाई 29 अगस्त तक टली: पोस्टर में मां काली सिगरेट पीते दिखाया गया था, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप

0
15
Advertisement


  • Hindi News
  • National
  • Kaali Poster Controversy; Delhi Tis Hazari Court Hearing Postponed Till August 29

नई दिल्ली16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मां काली पोस्टर विवाद को लेकर फिल्म मेकर लीना मणिमेकलाई पर दर्ज मामले की सुनवाई 29 अगस्त तक टल गई है। मामले की सुनवाई कर रहे जज छुट्टी पर हैं, जिसकी वजह से इसे आगे बढ़ाया गया है। लीना ने एक फिल्म के पोस्टर और टेलर में मां काली को आपत्तिजनक तरीके से दिखाया था।

मां काली बनी अभिनेत्री को सिगरेट पीते हुए दिखाया
पोस्टर में मां काली बनी अभिनेत्री को सिगरेट पीते हुए दिखाया गया था। 2 जुलाई को पोस्टर रिलीज होने के बाद सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा भड़क गया था। यूजर्स ने मेकर्स पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया था।

याचिकाकर्ता राज गौरव ने शनिवार को कोर्ट में एक और याचिका दाखिल की। उन्होंने कहा कि हम कुछ अन्य डॉक्यूमेंट रिकार्ड में शामिल करना चाहते हैं, जो विपक्ष के मामले से संबंधित है और उनकी योग्यता को प्रभावित करते है। पिछली सुनवाई के दौरान कोर्ट ने 11 जुलाई को लीना मणिमेकलाई को समन जारी किया था। कोर्ट ने कहा कि कोई भी आदेश पारित करने से पहले विपक्ष को सुनना जरूरी है।

लीना की आने वाली फिल्म ने देवी काली को अपमानित किया

लीना की आने वाली फिल्म काली के पोस्टर में मां काली को सिगरेट पीते हुए दिखाया गया जो हिन्दुओं का भावनाओं को ठेस पहुंचाता है।

लीना की आने वाली फिल्म काली के पोस्टर में मां काली को सिगरेट पीते हुए दिखाया गया जो हिन्दुओं का भावनाओं को ठेस पहुंचाता है।

एडवोकेट राज गौरव ने दायर याचिका में कहा लीना की आने वाली फिल्म काली के पोस्टर में हिंदूओं की देवी काली को अपमानित किया गया है। उन्होंने कहा फिल्म के पोस्टर में काली देवी को सिगरेट पीते हुए दिखाया गया है, जो हिन्दुओं का भावनाओं को ठेस पहुंचाता है और नैतिकता के खिलाफ है।

दिल्ली पुलिस ने विवादित पोस्टर के खिलाफ मामला दर्ज किया था। कनाडा में भारतीय हाई कमीशन ने इस पर नाराजगी जताई और आगा खान संग्रहालय से हिन्दू देवताओं के अपमानजनक चित्र को वापस लेने को कहा।

आयोजकों ने मांगी माफी, फिल्म की स्क्रिनिंग पर रोक
डॉक्यूमेंट्री काली विवाद को लेकर विदेश मंत्रालय का बयान कुछ दिन पहले आया था। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बताया था कि ओटावा स्थिति भारतीय उच्चायोग ने मामले पर अपना बयान जारी किया है। उन्होंने बताया कि ओटावा में फिल्म की स्क्रिनिंग से जुड़े आयोजकों ने माफी मांग ली है। उन्होंने फिल्म की स्क्रिनिंग भी रोक दी थी। वहीं इस मामले पर दर्ज हो रही एफआईआर पर उन्होंने कहा था कि यह घरेलू मामला है। इसका विदेश नीति से कोई लेना-देना नहीं है।

फिल्ममेकर लीना पर 4 राज्यों में FIR

तमिल डायरेक्टर लीना अब तक 10 से ज्यादा डॉक्यूमेंट्री बना चुकी हैं। वे मादाथी नामक फीचर फिल्म का भी निर्माण कर चुकी हैं।

तमिल डायरेक्टर लीना अब तक 10 से ज्यादा डॉक्यूमेंट्री बना चुकी हैं। वे मादाथी नामक फीचर फिल्म का भी निर्माण कर चुकी हैं।

काली पोस्टर को लेकर फिल्ममेकर लीना मणिमेकलाई के खिलाफ दिल्ली, उत्तर प्रदेश के लखनऊ, गोंडा और लखीमपुर, मध्य प्रदेश के रतलाम और बिहार के मुजफ्फरपुर में FIR दर्ज कराई गई थी। इनमें लीना पर धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप लगाया गया था और उन्हें गिरफ्तार करने की मांग की गई थी। बंगाल में भाजपा ने प्रदर्शन किया था। विरोध पर महुआ ने कहा था कि वे डरने वाली नहीं हैं।

यह भी पढ़ें: काली विवाद के बीच PM मोदी का बयान:बोले- भारत पर मां काली का आशीर्वाद, इस आध्यात्मिक ऊर्जा को लेकर देश आगे बढ़ रहा

कनाडा फिल्म फेस्टिवल में लॉन्च हुई फिल्म
लीना ने काली का पोस्टर 2 जुलाई को लॉन्च करते हुए बताया था कि वो इसे लेकर काफी एक्साइटेड हैं, क्योंकि काली को ‘कनाडा फिल्म फेस्टिवल’ में लॉन्च किया गया है। विवादित डाक्यूमेंट्री तमिल आर्ट कलेक्टिव और क्वीन समर इंस्टिट्यूट ने मिलकर बनाई है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement