कर्ज से हैं परेशान? तो वास्तु के ये उपाय आपके आ सकते हैं काम | Vastu Tips For Home: Troubled by debt? So these Vastu remedies can work for you | Patrika News

0
10


वास्तु अनुसार कर्ज बढ़ने के कारण:
-यदि आपके घर के ईशान कोण यानी उत्तर-पूर्व दिशा में वास्तु दोष होता है तो व्यक्ति के कर्ज में डूबने की आशंका होती है। इसके कारण घर के मुखिया को भारी धनहानि होने के आसार रहते हैं।
-घर के उत्तर-पश्चिम दिशा में वास्तु दोष का होना भी कर्ज बढ़ाने का काम करता है। ऐसे में इंसान को अपनी ही गलती के कारण भविष्य में आर्थिक नुकसान झेलना पड़ सकता है। अगल इस दिशा में मुख्य बेडरूम बना हो तो परिवार के मुखिया को व्यापार में नुकसान हो सकता है।
-यदि घर की दक्षिण-पूर्व दिशा में वास्तु दोष होता है तो अचानक से खर्चों में बढ़ोतरी होने लगती है और इन खर्चों को पूरा करने के लिए व्यक्ति को काफी कर्ज लेना पड़ जाता है।
-यदि परिवार के मुखिया का रूम पश्चिम दिशा में बना हो, तो बिजनेस में धन हानि होने के आसार रहते हैं।
-यदि घर का बाथरूम दक्षिण-पश्चिम दिशा में बना है तो भी कर्ज की समस्याएं बनी रहती हैं। ऐसे में, यदि आपका बाथरूम इस दिशा में बना हो तो कांच के कटोरे में समुद्री नमक डालकर रखें।

कर्ज से मुक्ति पाने के वास्तु उपाय:
-कर्ज से मुक्त रहना चाहते हैं तो घर की उत्तर और दक्षिण दिशा की दीवारों को एकदम सीधा बनवाएं।
-घर की उत्तर दिशा में बनी हुई दीवार थोड़ी कम ऊंचाई की बनवाएं। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि इस दीवार का कोई भी कोना एक तरफ से मोटा या कटा हुआ नहीं होना चाहिए।
-घर की उत्तर-पूर्व दिशा को हमेशा साफ रखना चाहिए। क्योंकि इस दिशा में गंदगी होने से व्यक्ति पर कर्ज का बोझ बढ़ने लगता है।
-घर की दक्षिण-पूर्व दिशा में पूजा घर बनाने से बचें।
-घर की दक्षिण-पश्चिम दिशा में सोने का कमरा नहीं होना चाहिए।
-साथ ही घर की दक्षिण-पश्चिम दिशा में कार्यस्थल या घर का प्रवेश द्वार भी नहीं बना होना चाहिए।

यह भी पढ़ें

बेहद बुद्धिमान, मेहनती और बिजनेस में माहिर माने जाते हैं इन 3 तारीख में जन्मे लोग





Source link