ऑस्ट्रेलिया में स्पाइवेयर बनाने वाला गिरफ्तार: जैकब ने वेब कैमरे तक पहुंच वाला स्पाइवेयर बनाया, 128 देशों के हजारों लोगों को बेचा

0
17
Advertisement


  • Hindi News
  • International
  • Spyware Maker Arrested In Australia Jacob Created Spyware With Access To Web Cameras, Sold To Thousands Of People In 128 Countries

ब्रिस्बेन16 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

ये ब्रिस्बेन स्थित जैकब का कमरा है। यहां वो स्पाइवेयर बनाता था।

ऑस्ट्रेलिया की ब्रिस्बेन पुलिस ने जैकब कीन नाम के ऐसे युवक को गिरफ्तार किया है, जिसने घरेलू हिंसा और बाल यौन अपराध में मदद करने वाला हैकिंग स्पाइवेयर बनाया था। उसने इस स्पाइवेयर को नाम दिया रिमोट एक्सेस ट्रोजन ‘रेट’। इसका इस्तेमाल अपराधी किसी भी कंप्यूटर को एक्सेस करने में कर सकते हैं।

‘रेट’ की खासियत है कि जब ये किसी भी कंप्यूटर पर इंस्टॉल हो जाता है, तो अपराधी इससे यूजर्स की निजी जानकारी आसानी से चुरा सकते हैं। उनके वेब कैमरा और माइक्रोफोन को भी एक्सेस कर सकते हैं। साथ में ये भी देख सकते हैं कि यूजर अपने मेल और डॉक्यूमेंट में क्या लिख रहा है।

15 साल की उम्र में बनाया था स्पाइवेयर
आरोपी अपनी मां के साथ रहता है। उसने ये टूल 15 साल की उम्र में बनाया था। उसने पहली बार इसे हैकिंग फोरम पर 35 डॉलर (करीब 2900 रुपए) में बेचा था। तब से वह 128 देशों के 14 हजार से ज्यादा लोगों को यह स्पाइवेयर बेच चुका है। इसे बेचने से उसे 3.2 करोड़ रुपए की कमाई हुई।

वैश्विक जांच के लिए 85 वारंट जारी
ऑस्ट्रेलियाई पुलिस फेडरेशन ने शनिवार को एक रिपोर्ट में कहा कि ऑस्ट्रेलिया में 201 लोगों ने ये स्पाईवेयर खरीदा है। उनके मुताबिक इस स्पाईवेयर का इस्तेमाल कर 44 अपराध ऑस्ट्रेलिया में सामने आ चुके हैं। जैकब पर 6 अपराधों में शामिल होने का शक है। उसकी मां को भी गिरफ्तार किया गया है। जैकब की तलाश में यूरोप में एक दर्जन से ज्यादा लॉ एनफोर्समेंट एजेंसी ने वैश्विक जांच के लिए 85 वारंट जारी किए हैं। इसके बाद 434 उपकरण जब्त किए गए और 13 लोगों को गिरफ्तार किया गया।

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement