ऐन वक्त पर नहीं चली रेफरी की क्लॉक: ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी को एक और मौका मिला; भारत ने शूटआउट में 3-0 से गंवाया सेमीफाइनल

0
14
Advertisement


  • Hindi News
  • Sports
  • India Vs Australia Women’s Hockey Shootout Controversy | CWG Hockey 2022

बर्मिंघमएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

वो, महिला हॉकी का सेमीफाइनल मुकाबला था और हमारे पास अंग्रेजों के घर में 20 साल बाद कॉमनवेल्थ गेम्स के फाइनल में पहुंचने का मौका था। लेकिन, आयोजकों की व्यवस्था और रेफरी के पक्षपात के कारण टीम इंडिया 2006 के बाद इन गेम्स के फाइनल में पहुंचने में नाकाम रही है।

उसे शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पेनाल्टी शूटआउट में 3-0 की शिकस्त झेलनी पड़ी। यहां टीम इंडिया खराब प्रदर्शन के कारण नहीं हारी। बल्कि अंग्रेजों की घटिया व्यवस्था और पार्शीयालिटी के कारण हारी है।

दरअसल, भारत-ऑस्ट्रेलिया सेमीफाइनल मुकाबला ड्रॉ रहने के बाद पेनाल्टी शूट आउट चल रहा था और दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर थीं। सवित ने ऑस्ट्रेलियाई स्ट्राइकर रोजी मेलोन का प्रयास विफल कर दिया था। अब भारत के पास बढ़त लेने का चांस था।

लेकिन, टाइम क्लाक समय पर शुरू नहीं हो सकी और रेफरी ने ऑस्ट्रेलियंस को एक मौका और दे दिया। जबकि इसमें टीम इंडिया की कोई गलती नहीं थी। यहां आयोजकों और हॉकी फेडरेशन की जवाबदेही थी। इसके बाद भी फैसला ऑस्ट्रेलिया के पक्ष में रहा। दूसरे मौके को भुनने में मालोन ने कोई गलती नहीं की।

1-1 की बराबरी पर छूटा मुकाबला। वंदना कटारिया ने 49वें मिनट में बराबरी का गोल दागा।

1-1 की बराबरी पर छूटा मुकाबला। वंदना कटारिया ने 49वें मिनट में बराबरी का गोल दागा।

कप्तान बोलीं- इस हार से उबरने में थोड़ा टाइम लगेगा
इस हार के बाद कप्तान सविता पूनिया की हताशा आंखों से आंसू बनकर निकली। उन्होंने कहा कि ‘इस हार से उबरने में हमें थोड़ा समय लगेगा। यह एक करीबी मैच था। हमने कड़ी मेहनत की थी। लेकिन अब हमारे पास ब्रॉन्ज मेडल के लिए आखिरी मौका है।’ कप्तान और सीनियर खिलाड़ी के नाते अब मैं इस हार को भुलाकर चाहती हूं। ताकि टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ ब्रॉन्ज मेडल मैच की तैयारी करें।

पेनाल्टी पर भारत की नेहा, नवनीत कौर और लालरेम्सियामी गोल नहीं कर सकीं।

पेनाल्टी पर भारत की नेहा, नवनीत कौर और लालरेम्सियामी गोल नहीं कर सकीं।

1-1 से ड्रॉ रहा था मैच
60 मिनटों के बाद यह मैच 1-1 की बराबरी पर छूटा था। ऐसे में शूट-आउट में दोनों टीमों को 5-5 प्रयास मिले। ऑस्ट्रेलिया ने शुरुआती तीनों गोल किए। भारतीय टीम की ओर से कोई खिलाड़ी गोल नहीं कर सका। मैच में ऑस्ट्रेलिया के लिए रेबेका ग्रेनर ने गोल किया था। नेहा, नवनीत कौर और लालरेम्सियामी गोल नहीं कर सकीं। जबकि ऑस्ट्रेलिया के लिये एम्ब्रोसिया मालोन, एमी लॉटन और कैटलीन नोब्स के शॉट निशाने पर लगे।

वीरू भी भड़के, पोस्ट कर निकाली भड़ास
भारत टीम के साथ हुए पक्षपात पर विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंदर सहवाग भड़क गए हैं। उन्होंने एक सोशल पोस्ट कर अपनी भड़ास निकाली है। सहवाग ने लिखा- ‘पेनाल्टी मिस हुआ ऑस्ट्रेलिया से और रेफरी कहते हैं कि क्लॉक नहीं चली। ऐसा पक्षपात क्रिकेट में सुपरपावर बनने से पहले क्रिकेट के साथ भी होता था। हॉकी में भी हम जल्दी बनेंगे और तब सभी घड़ियों समय पर चलेंगी। अपनी लड़कियों पर गर्व है।’

खबरें और भी हैं…



Source link

Advertisement