आजाद नई पार्टी लॉन्च कर सकते हैं: जम्मू एयरपोर्ट से हुजूम के साथ निकले गुलाम नबी, थोड़ी देर में बड़ी रैली करेंगे

0
27


जम्मूएक घंटा पहले

कांग्रेस अलग हुए गुलाम नबी आजाद रविवार को जम्मू की सैनिक कालोनी में एक रैली करने वाले हैं। कांग्रेस छोड़ने के बाद यह उनकी पहली सभा होगी। माना जा रहा है कि इस दौरान वे अपनी नई पार्टी भी लॉन्च कर सकते हैं।

आजाद रविवार सुबह ही जम्मू एयरपोर्ट पहुंचे हैं और वहां से हुजूम के साथ निकले। इस्तीफे के बाद आजाद के भाजपा जॉइन करने के कयास थे। लेकिन, आजाद ने यह साफ कर दिया था कि वे जल्द नई पार्टी का ऐलान करेंगे और इसकी पहली यूनिट जम्मू-कश्मीर में होगी, जहां साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होने हैं।

जम्मू के 64 कांग्रेस नेता भी शामिल होंगे
आजाद ने 26 अगस्त को कांग्रेस छोड़ दी थी। उनके बाद जम्मू-कश्मीर विधानसभा के पूर्व डिप्टी स्पीकर समेत चार नेताओं ने भी कांग्रेस से इस्तीफा दिया। इनके अलावा जम्मू-कश्मीर के पूर्व उपमुख्यमंत्री तारा चंद, पूर्व मंत्री माजिद वानी और मनोहर लाल शर्मा ने भी कांग्रेस छोड़ दी थी। कुल मिलाकर 64 नेता 4 सितंबर को आजाद की नई पार्टी में शामिल होंगे।

आजाद ने कहा था न तो मुझे फायदा न भाजपा को
कांग्रेस से अलग होने के बाद आजाद ने कहा था कि भारतीय जनता पार्टी से गठबंधन न तो उनके लिए फायदेमंद है न ही BJP के लिए। आजाद के पास जम्मू-कश्मीर में बीजेपी या नेशनल कॉन्फ्रेंस या पीडीपी के साथ गठजोड़ करने का विकल्प होगा।

कांग्रेस के DNA वाले बयान पर दिया जवाब

कांग्रेस के कई नेता अब खुलकर गुलाम नबी के खिलाफ बयानबाजी कर रहे हैं। हाल ही में कांग्रेस ने आजाद के DNA पर सवाल उठाया था। पार्टी के एक नेता कहा था कि आजाद का डीएनए बदलकर मोदी-मय हो गया है। अब आजाद अपने डीएनए पर उठ रहे सवाल पर कांग्रेस पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि अगर आप दूसरे राजनीतिक दलों के लोगों से मिलते हैं और उनसे बात करते हैं तो इससे आपका डीएनए नहीं बदल जाता है। पढ़ें पूरी खबर…

3 घटनाएं जो भाजपा और आजाद की नजदीकी दिखाती हैं

  • 5 अगस्त 2019 को केंद्र सरकार ने संविधान से अनुच्छेद 370 और आर्टिकल 35A को खत्म कर दिया। इसके बाद महबूबा मुफ्ती, फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला समेत सभी बड़े नेताओं को हिरासत में लेकर नजरबंद किया गया था, लेकिन गुलाम नबी इस वक्त भी आजाद थे।
  • फरवरी 2021 के बाद से गुलाम नबी आजाद लोकसभा और राज्यसभा किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं। उनके पास कोई दूसरा अहम पद भी नहीं है। इसके बावजूद लुटियंस में उनका बंगला खाली नहीं कराया गया। अगस्त 2022 में ही उनके बंगले का एक्सटेंशन दे दिया गया।
  • 29 अगस्त को गुलाम नबी आजाद ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘मैं तो मोदी जी को क्रूर आदमी समझता था। मुझे लगता था कि उन्होंने शादी नहीं की है और उनके बच्चे नहीं हैं तो उन्हें कोई परवाह नहीं है, लेकिन कम से-कम उनमें इंसानियत तो है।’



Source link