अमेरिका में 1.2 करोड़ ने स्टूडेंट लोन लिया: फिर भी ग्रेजुएट नहीं; कर्ज माफी योजना लागू होने से कम होगा इनका बोझ

0
16


  • Hindi News
  • International
  • 1.2 Million Took Student Loans In The US Still Not A Graduate; Implementation Of Loan Waiver Scheme Will Reduce Their Burden

वॉशिंगटन3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

अमेरिका में कार डीलरशिप में काम करने वाली एक कर्मचारी को उम्मीद है कि वह कॉलेज लौट सकेंगी। एक ऑपरेशन मैनेजर सोच रहे हैं कि क्या वे घर खरीद पाएंगे। एक कस्टमर सर्विस कर्मचारी इस कड़वी सच्चाई को महसूस कर रही हैं कि वह कभी भी दशकों पुराने कर्ज के बोझ से उबर नहीं पाएंगी। ये लोग उन करोड़ों अमेरिकियों में शामिल हैं जिन्होंने कॉलेज की पढ़ाई के लिए कर्ज लिया, लेकिन वे ग्रेजुएट नहीं हो सके।

अगर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन की सरकार की कर्ज माफी योजना लागू होती है तो इन लोगों का बोझ थोड़ा कम हो जाएगा। अमेरिका में लंबे समय से उच्च शिक्षा को आर्थिक सुरक्षा की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम बताया जाता है। हजारों डॉलर के कर्ज में लदी शांतोया स्मिथ कहती हैं, निश्चित रूप से ऐसा हो सकता है। उनकी योजना ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करने की है।

47% कर्जदार श्वेतों की पढ़ाई अधूरी
शिक्षा अर्थशास्त्री डॉ. कार्लो सालेरनो की एक रिपोर्ट के मुताबिक, स्टूडेंट लोन ना चुकाने वाले लगभग 1.2 करोड़ लोग ग्रेजुएट नहीं हो सके हैं। यह कर्ज लेने वालों का 15% है। इस मामले में असमानता साफ नजर आती है। शिक्षा ऋण लेने वाले करीब 66% अश्वेत कॉलेज की पढ़ाई पूरी नहीं कर पाए हैं। वहीं, 47% कर्जदार श्वेतों की पढ़ाई अधूरी रही। माफी योजना के तहत सालाना 1.25 लाख डॉलर (करीब 1 करोड़ रु.) से कम कमाने वालों का 8 लाख रु. और पैल ग्रांट पाने वाले निम्न आय परिवारों का 16 लाख रुपए कर्ज माफ होगा।

कर्ज में लदे ग्रेजुएशन ना करने वाले लोगों के सामने कई समस्याएं हैं। उनकी क्रेडिट रेटिंग बिगड़ गई है। उन्हें कार, मकान खरीदने के लिए कर्ज लेने में दिक्कत हो रही है।

कर्ज माफी योजना का ढांचा कमजोर
अमेरिकन एंटरप्राइज इंस्टीट्यूट की सीनियर फैलो बेथ एकर्स मानती हैं कि कर्ज माफी योजना का ढांचा कमजोर है। इससे उन लोगों को फायदा है जिन्हें डिग्री नहीं मिली है। 46 साल की शेरांडा पेंडर कहती हैं, ऋण माफी ने उनमें थोड़ी आशा जगाई है। पेंडर ने 1993 में यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया था। तीन साल बाद उनका पहला बच्चा हुआ। उन्हें ग्रेजुएशन किए बगैर पढ़ाई छोड़नी पड़ी थी।

खबरें और भी हैं…



Source link